Representational Pic
Representational Pic

    कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पश्चिम बंगाल इकाई ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ राजनीतिक विरोधियों के उत्पीड़न का तृणमूल कांग्रेस के महासचिव अभिषेक बनर्जी का आरोप दुर्भावना से प्रेरित है। तृणमूल कांग्रेस से सांसद और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के भतीजे अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) से राज्य में कथित कोयला चोरी घोटाला से संबंधित धन शोधन के मामले में सोमवार को दिल्ली में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नौ घंटे पूछताछ की। पूछताछ के बाद तृणमूल सांसद ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार पर राजनीतिक विरोधियों के उत्पीड़न का आरोप लगाया।  

    भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने कहा, ‘‘अभिषेक बनर्जी की टिप्पणी, जिसमें उन्होंने साजिश की बात कही है वह दुर्भावना से प्रेरित है। हालांकि, हम उनकी हताशा को समझते हैं। ईडी द्वारा आठ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ के बाद वह थक गए होंगे। यह एक स्वतंत्र एजेंसी है जो धन के अवैध लेनदेन की जांच कर रही है। इसमें भाजपा की कोई भूमिका नहीं है। अगर उन्हें शिकायत है, तो वह अदालत क्यों नहीं जाते?”  

    भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने दावा किया कि तृणमूल को हर चीज में साजिश नजर आती है। तृणमूल के प्रवक्ता और प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने कहा कि अभिषेक बनर्जी ने दिखाया कि तृणमूल भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के दबाव और धमकी की रणनीति के आगे नहीं झुकेगी। (एजेंसी)