Bharat Jodo Nyay Yatra

Loading

रायबरेली: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार को अग्निवीर योजना (Agniveer Scheme) को लेकर केन्‍द्र की नरेन्‍द्र मोदी सरकार (BJP Government) पर निशाना साधते हुए कहा कि इस योजना से अब देश में शहीदों में भी भेद शुरू हो गया है। देश पर प्राण न्‍यौछावर करने वाले अग्निवीर जवान को शहीद का दर्जा नहीं दिया जा रहा है। अपनी ‘भारत जोड़ो न्‍याय यात्रा’ (Bharat Jodo Nyay Yatra) के तहत अपनी मां सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली पहुंचे राहुल ने उपस्थित जनसमूह को सम्‍बोधित करते हुए अग्निवीर योजना का जिक्र किया और कहा, ”आपने अग्नि वीर योजना का नाम सुना है। आपको मालूम है कि अब हिंदुस्तान में दो तरीके के शहीद होंगे।

एक सेना वाला (पूर्णकालिक सेनाकर्मी) जब शहीद होगा तो उसे शहीद का दर्जा दिया जाएगा और दूसरा जो अग्निवीर होगा, जब वह शहीद होगा उसको शहीद का दर्जा नहीं दिया जाएगा।” उन्‍होंने कहा, ”उसकी (अग्निवीर जवान) लाश को परे कर दिया जाएगा। उसके परिवार को ना तो पेंशन मिलेगी ना ही किसी तरह की मदद मिलेगी। अग्निवीर जवान सेना में जाएंगे लेकिन चार साल बाद चार में से तीन अग्निवीरों को लात मार कर भगा दिया जाएगा। कहा जाएगा कि तुम्हारी यहां कोई जरूरत नहीं है। सेना के बजट का जो पैसा अग्निवीरों को मिलना चाहिए वह पैसा कहां जा रहा है। जो उनको मिलना था वह नरेंद्र मोदी जी उनके हाथ से निकालकर अपने मित्रों को दे रहे हैं।”

राहुल ने कहा, ”यह सच्चाई है। मैंने यह बात संसद में बोली। अपने भाषण देखा होगा। मुझे लोकसभा से निकाल दिया गया और मेरी सदस्यता रद्द कर दी गयी। उच्च्तम न्यायालय ने कहा कि राहुल गांधी की सदस्यता वापस करो तब दोबारा में लोकसभा में जा पाया। मेरा घर छीन लिया। दो साल की सजा दे दी। जब मेरा घर छीना मैंने उनसे कहा ले जाओ मुझे तुम्हारा घर नहीं चाहिए।” उन्होंने कहा, ‘‘मेरा घर हिंदुस्तान के करोड़ों लोगों के दिल में है। मैं आपको दिल से धन्यवाद देना चाहता हूं और कहना चाहता हूं कि आप अपने हक के लिए लडि़ये। आप खड़े हो जाइए। यह देश आपका है। एक प्रतिशत लोगों का ही नहीं है। यह देश किसानों, मजदूरों, छोटे दुकानदारों और बेरोजगारों सबका है। खड़े हो जाइए। जो आपका है उसे ले लीजिए।”

राहुल ने भीड़ में से एक व्यक्ति को अपने पास बुलाकर मौजूद लोगों से पूछा, ”आपने कभी जेबकतरे को काम करते हुए देखा है। वह सबसे पहले ध्‍यान भटकाता है। वह कहता है कि वह देखो पाकिस्‍तान, वह देखो चाइना, वह देखो राम मंदिर, वह देखो अमिताभ बच्‍चन। यही सब करके आपका ध्यान भटकाया जा रहा है। उसके बाद क्या होगा उसके बाद कोई व्‍यक्ति आपके पीछे आकर खड़ा हो जाएगा। जब आप इधर-उधर देखेंगे तो जेबकतरा पीछे से उसका फोन निकाल लेगा। निकालने के लिये ध्यान इधर-उधर कौन करता है….नरेंद्र मोदी। पीछे से पैसा कौन निकालता है…. अडाणी।”

उन्‍होंने कहा, ”और तीसरा बंदा होगा जो लाठी लेकर यहां खड़ा होगा कि अगर किसी ने कुछ उल्टा सीधा किया तो उसे लाठी लगेगी…. अमित शाह, सीबीआई, ईडी। यह ड्रामा चल रहा है आपके साथ 24 घंटे। आप सुबह उठते हैं, मोबाइल फोन खोलते हैं। आपका ध्यान इधर-उधर जाता है। जीएसटी से आपका पैसा जेब से निकलता है। नोटबंदी से पैसा निकलता है और एक-दो प्रतिशत अडाणी जैसे लोग आपके पैसे को खाते रहते हैं। आप भूखे मरते रहते हैं। यह हिंदुस्तान है।” राहुल ने देश में जातिवार जनगणना पर जोर देते हुए कहा कि जातिवार जनगणना ही भाजपा के जाल से निकलने का एक मात्र रास्‍ता है।