Biggest teacher recruitment: Exam for teacher recruitment in Rajasthan on Sunday, lakhs of candidates have applied
Representative Photo

    जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में अध्यापक भर्ती (Teachers Recruitment) के लिए अपनी तरह की अब तक की सबसे बड़ी परीक्षा (Test) रविवार को होगी जिसमें 16 लाख से अधिक परीक्षार्थी एक दिन में इम्तिहान (Exam) देंगे। राज्य सरकार (Rajasthan Government) ने परीक्षा के सफल आयोजन के लिए पूरी पुलिस व प्रशासनिक ताकत लगा दी है वहीं विभिन्न धार्मिक व गैर सरकारी संगठन भी मदद के लिए आगे आए हैं।

    राज्य के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राज्य सरकार परीक्षाओं की सुरक्षा व सुविधा के साथ परीक्षा के सफल आयोजन के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने संवाददाताओं से कि इस परीक्षा के आयोजन से जुड़े सारे मामले पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद निगाह रख रहे हैं और किसी तरह की कोई कमी नहीं रखी जाएगी। एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार राजस्थान में तृतीय श्रेणी के लगभग 31000 अध्यापकों के लिए यह राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) 26 सितंबर को करवाई जा रही है और इसके लिये राज्यभर में 3993 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। इस परीक्षा के लिए 16 लाख 22 हजार 19 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।

    उन्‍होंने बताया दो स्तरों के अध्‍यापकों के लिए यह परीक्षा दो अलग अलग पालियों में होगी और कुल मिलाकर एक ही दिन में 25 लाख से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा प्रदेश में लगभग तीन साल बाद हो रही है। इससे पहले अंतिम बार यह परीक्षा 2018 में हुई थी और परीक्षार्थियों की संख्‍या के लिहाज से यह अपनी तरह की सबसे बड़ी परीक्षा है। खाचरियावास ने कहा कि सरकार ने परीक्षार्थियों के लिए रोडवेज बसों में यात्रा नि:शुल्क की है और इसके अलावा हजारों की संख्या में निजी बसों की व्यवस्था की गयी है। भारतीय रेलवे ने इस परीक्षा को देखते हुए आगामी कई दिन दर्जन भर विशेष रेल चलाने तथा मौजूदा ट्रेनों में डिब्बे बढ़ाने की घोषणा की है।

    इस परीक्षा में नकल जैसी किसी भी गड़बड़ी को रोकना आयोजकों के लिए चुनौती है। परीक्षा का आयोजन माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान कर रहा है। बोर्ड के प्रवक्ता के अनुसार 30000 से अधिक कक्षों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और इसके अलावा हर चार परीक्षा केंद्र पर एक उड़नदस्ते की व्यवस्था जिला स्तर पर की गई है। इसके अलावा परीक्षा में डमी परीक्षार्थी बैठाने वाले, नकल आदि के जरिए पास करवाने का झांसा देने वाले गिरोह भी सक्रिय हो गए हैं।

    राज्य की पुलिस एवं विशेष कार्यबल ने राज्य भर में इस तरह के गिरोहों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है और बीते कुछ दिन में लगातार धरपकड़ हो रही है। शनिवार को भी राजधानी जयपुर में फर्जी अभ्यर्थी समेत दो युवतियों को गिरफ्तार किया गया। खाचरियावास ने परीक्षार्थियों व उनके अभिभावकों से किसी झांसे में नहीं आने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘ परीक्षार्थियों व उनके अभिभावकों से मेरी अपील है कि वे ठगों से सावधान रहें। ये लोग कहेंगे कि हम चयन करवा देंगे, लेकिन पैसे लेकर चंपत हो जाएंगे।’

    राज्‍य सरकार ने आगाह किया है कि कोई सरकारीकर्मी पेपर लीक या नकल में लिप्त पाया गया तो उसे सेवा से बर्खास्त कर दिया जाएगा। इस बीच विभिन्न गैर सरकारी व धार्मिक संगठन परीक्षार्थियों के ठहरने व खाने पीने की व्यवस्था के लिए आगे आए हैं। इन संगठनों ने धर्मशालाओं सहित अन्य जगह पर परीक्षार्थियों के ठहरने व खाने पीने की व्यवस्था की है।