MODI-SHAH-NADDA

Loading

नई दिल्ली: जहां एक तरफ BJP ने राजस्थान (Rajasthan), मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) और छत्तीसगढ़ (Chhatisgarh) विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Elections) के नतीजों में बहुमत का आंकड़ा तो बड़ी आसानी पार कर लिया है, लेकिन वहीं इन तीनों ही राज्यों में मुख्यमंत्री के नाम का अभी तक ऐलान नहीं किया गया है। हालांकि विधानसभा चुनाव के नतीजे बीते 3 दिसंबर को ही आ चुके हैं और इस बात को करीब 7 दिन होने को है। ऐसे में आज इन राज्यों में भेजे गए पर्यवेक्षक ही ‘कौन बनेगा मुख्यमंत्री’ के सवाल का जवाब शाम तक खोज कर लाएंगे।  

हालिया चुनावी नतीजों को देखा जाए तो इन तीनों राज्यों में से एक मध्य प्रदेश में BJP ने सरकार फिर रिपीट हुई है और पार्टी का मौजूदा मुख्यमंत्री भी है तो वहीं दो अन्य राज्य- छत्तीसगढ़ और राजस्थान में BJP ने इसबार चुनाव जीता है। खबर है कि पार्टी में आतंरिक गुटबाजी के चलते मुख्यमंत्री का ऐलान करने में देरी हो रही है।

इन हालातों में अब BJP ने तीनों राज्यों में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। ये पर्यवेक्षक विधायकों के साथ बातचीत के आधार पर रिपोर्ट तैयार करेंगे और केंद्रीय नेतृत्व को सौंपेंगे। केंद्रीय नेतृत्व के फैसले के बाद विधायक दल की औपचारिक बैठक में मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान कर दिया जाएगा। 

इसमें पार्टी ने  केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ, राज्यसभा सांसद सरोज पांडे और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े को राजस्थान का पर्यवेक्षक बनाया है। तो वहीं मध्य प्रदेश में बीजेपी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ के लक्ष्मण और पार्टी की राष्ट्रीय सचिव आशा लाकड़ा को पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है। ईसिस के साथ छत्तीसगढ़ में BJP ने केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, सर्वानंद सोनोवाल और पार्टी महासचिव दुष्यंत कुमार गौतम को पर्येवक्षक बना के भेजा है। ऐसे में आज राज्यों के मौजूदा विधायकों से यह सभी पर्यवेक्षक बात करेंगे और हो सकता है कि शाम तक सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों का ऐलान हो जाए।