केंद्र सरकार ने लिया बड़ा निर्णय, अब दिव्यांग और असहाय लोगों को घर में लगेगा कोरोना का टीका

    नई दिल्ली: देश में कोरोना को लेकर आयोजित प्रेस वार्ता में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बड़ा निर्णय लिया है। जिसके तहत अब दिव्यांग और असहाय लोगों को घर में जाकर टीका लगाया जाएगा। इस बात की घोषणा केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजीव भूषण ने की। 

    कोरोना की दूसरी लहर अभी ख़त्म नहीं

    स्वास्थ्य सचिव ने कहा, “पिछले 24 घंटे में देश में लगभग 31,000 COVID-19 के नए मामले सामने आए हैं। कोविड मामलों में कमी अभी भी बनी हुई है लेकिन जिस रफ़्तार से हम कमी चाहते हैं, संभवत उस रफ़्तार से कमी नहीं हो रही है। कोरोना की दूसरी लहर अभी ख़त्म नहीं हुई है।”

    उन्होंने कहा, “ज़रूरी है कि हम अभी भी कोविड व्यवहार को बनाए रखे। हम यह भी सुनिश्चित करें की कोविड वैक्सीनेशन के विस्तार में तेजी से बढ़ावा हो। जो 31,000 नए मामले सामने आए हैं उसमें से ज़्यादातर मामले केरल और महाराष्ट्र से आए हैं।”

    केरल में एक लाख से ज्यादा सक्रिय मामले 

    राजेश भूषण ने कहा, “कोविड सक्रिय मामलों की संख्या घटी है। इस वक़्त देश में 3,01,000 सक्रिय मामले हैं। रिकवरी दर 97.8% है, यह दर लगातार बढ़ रही है। इस वक़्त 1 लाख से ज़्यादा कोविड सक्रिय मामले केरल में हैं, 40,000 से ज़्यादा मामले महाराष्ट्र में है।”

    उन्होंने कहा, “10,000 और 17,000 के बीच में जो कोविड सक्रिय मामले हैं वह चार राज्यों में हैं(कर्नाटक, मिज़ोरम, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु) बाकी 30 राज्यों और संघ शासित क्षेत्रों में 10,000 से कम सक्रिय मामले हैं।”

    99 प्रतिशत स्वास्थ्यकर्मियों को पहली डोज़

    देश में टीकाकरण अभियान पर उन्होंने कहा, “कोविड वैक्सीन की पहली डोज़ अब तक लगभग 62 करोड़ लोगों को मिल गई, दूसरी डोज़ साढ़े 21 करोड़ लोगों को मिली है। 99% स्वास्थ्यकर्मियों को पहली डोज़ और 84% को दूसरी डोज़ मिली है। फ्रंटलाइन वर्कर्स में पहली डोज़ 100% और 80% लोगों को दूसरी डोज़ मिली।”

    छह राज्यों में सभी को लगी पहली खुराक

    उन्होंने कहा, “छह राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने अपनी आबादी के लिए पहली खुराक का 100% कवर किया है। ये हैं लक्षद्वीप, चंडीगढ़, गोवा, हिमाचल प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और सिक्किम हैं।”

    2/3 वयस्क आबादी को लगा टीका 

    नीति आयोग में सदस्य- स्वास्थ्य डॉ. वीके पॉल ने कहा, “लगभग 2/3 वयस्क आबादी को कोविड वैक्सीन की एक डोज़ लग गई है। 18+ आयु वर्ग के 66% लोगों ने कम से कम एक डोज़ प्राप्त की, लगभग एक चौथाई वयस्क आबादी ने दोनों डोज़ प्राप्त की है, यह एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।”