Photo Credit tiwtter-ANI
Photo Credit tiwtter-ANI

    मुंबई: महाराष्ट्र में भले ही बीजेपी गठबंधन में शिवसेना बागी विधायकों के साथ नई सरकार बन गई हो लेकिन, विपक्ष में बैठी महा विकास अघाड़ी की शिवसेना अब भी एकनाथ पर निशाना साधने से बाज नही आ रही है। इस बीच महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात चीत में विपक्ष (MVA) को जवाब देनें के साथ-साथ महाराष्ट्र राजनीति के बारे में कई जरूरी बात कही है। सीएम शिंदें ने कहा कि, बालासाहेब ठाकरे का हिन्दुत्व का जो मुद्दा है, हिन्दुत्व के जो विचार हैं, उनकी जो भूमिका है, उसे आगे ले जाने का फैसला हम लोगों ने किया है।

    हमारे लगभग 50 विधायक अगर एक साथ ऐसी भूमिका लेते हैं तो इसका कोई बड़ा कारण होगा। इसपर विचार करने की आवश्यकता थी,जो हमने किया है। अब जल्द ही हमारे नए संघठन को और मजबूत करने के लिए विधायकों और मार्गदर्शकों के साथ आगे का निर्णय लिया जाएगा।

    मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि, शिवसेना-भाजपा ने एक साथ चुनाव लड़ा था और सरकार बन गई कांग्रेस-NCP के साथ। इसके कारण जब भी हिन्दुत्व के मुद्दे आए, दाऊद का मुद्दा आया, मुंबई बम ब्लास्ट का मुद्दा और भी कई मुद्दे जब आते थे, हम कोई भी निर्णय नहीं ले पा रहे थे। जनता को लगा था कि, भाजपा सत्ता के लिए कुछ भी करती है, लेकिन उन्होंने सभी देशवासियों को बता दिया है कि, इन 50 लोगों ने एक हिन्दुत्व की भूमिका ली है, इनका एजेंडा हिन्दुत्व का है,विकास का है, इनका समर्थन करना चाहिए। जिसके चलते बीजेपी ने हमें समर्थन किया है।

    सीएम एकनाथ शिंदे ने  उद्धव ठाकरे के बयान “आज तीन पहिए वाले ड्राइवर को सरकार चलाने दे दिया है” के जवाब कहा कि, वे रिक्शावाला कहकर ताना मारते हैं लेकिन, उस रिक्शा ने मर्सिडीज को पीछे छोड़ दिया क्योंकि ये सरकार  सर्वसामान्य लोगों के लिए सरकार है। यह समाज के हर घटक को न्याय दिलाने वाली सरकार है। हम लोग कोई भी गैरकानूनी काम नहीं कर रहे है। लोकशाही में कानून है, नियम हैं, उसी के मुताबिक ही काम करना पड़ता है। आज हमारे पास बहुमत है। सुप्रीम कोर्ट में भी हमारे खिलाफ जो लोग गए थे, उन्हें भी कोर्ट ने डांट लगाई है। इससे उनको सबक लेना चाहिए।