Mamata Banerjee and PM Modi

    नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो ममता बनर्जी (Wrst Bengal Mamata Banerjee) ने बुधवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात की। इस दौरान दोनों के बीच पश्चिम बंगाल से संबंधित कई मुद्दों पर चर्चा हुई, जिसमें राज्य का बकाया, त्रिपुरा हिंसा और बीएसएफ अधिकार क्षेत्र का विस्तार शामिल है।

    मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद संवाददाताओं बातचीत के दौरान कहा, “मैंने BSF के बारे में चर्चा की, BSF हमारा दुश्मन नहीं है। मैं सभी एजेंसियों की इज्जत करती हूं लेकिन कानून-व्यवस्था जो राज्य का विषय है इससे उसमें टकराव होता है।”

    उन्होने कहा कि, “संघीय ढांचे को बेवजह छेड़ना ठीक नहीं है, इसके बारे में आप चर्चा करो और BSF के कानून को वापस लो।” टीएमसी सुप्रीमो ने कहा, “हमारे यहां बहुत सारी प्राकृतिक आपदाएं हुई हैं इसमें केंद्र सरकार से हमें बहुत पैसा मिलेगा। मैंने वो पैसे देने के लिए बोला, उन्होंने कहा कि ठीक है हम परिस्थिति देख कर बताएंगे।”

    दीदी ने कहा, “मैंने कहा कि राजनीतिक तौर पर आपके साथ हमारे जो भी अंतर हैं वो रहेंगे क्योंकि आपकी और हमारी पार्टी की विचारधारा अलग है। लेकिन ऐसा न हो कि केंद्र और राज्य के रिश्तों में कोई असर पड़े। राज्य का विकास होने से केंद्र का विकास होता है।”

    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, “मैंने BGBS कॉन्फ्रेंस का उद्घाटन करने के लिए प्रधानमंत्री को निमंत्रण दिया है, प्रधानमंत्री ने निमंत्रण स्वीकार किया है।”

    बता दें कि ममता बनर्जी सोमवार को दिल्ली पहुंची थी। वह विपक्षी दलों के नेताओं के साथ बैठक कर सकती है और 25 नवंबर को कोलकाता लौट सकती है। 

    वहीं इसके बाद दीदी 30 नवंबर से 1 दिसंबर तक मुंबई में रहेंगी। इस दौरान वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात करेंगी।