ajay-singh

    पोर्ट ब्लेयर. अंडमान और निकोबार (Andmaan-Nicobar) कमान के कमांडर इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अजय सिंह (Lt. Genral Ajay Singh) ने अभियान संबंधी तैयारियों का जायजा लेने के लिए पोर्ट ब्लेयर में ‘वायुसेना कंपोनेंट’ के मुख्यालय का दौरा किया। एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि वायुसेना कंपोनेंट कमांडर, एयर कोमोडोर एस श्रीधर ने मंगलवार को उनका स्वागत किया।

    कमांडर इन चीफ को प्रमुख कर्मियों से मिलवाया गया तथा वायुसेना इकाई के मुख्यालय के खाका और ढांचागत विकास योजना से अवगत कराया गया। इसमें बताया गया कि उन्होंने वायुसैनिकों से बातचीत की और तीनों सेवाओं की संपत्तियों के संयुक्त प्रयोग, तीनों सेनाओं के संयुक्त प्रशिक्षण के महत्व पर अपने विचार एवं दृष्टिकोण साझा किए तथा शत्रुओं से एक कदम आगे रहने के लिए उभरती प्रौद्योगिकियों के साथ-साथ चलने की जरूरत पर जोर दिया।

    लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने वायुसेना केंद्र प्रोथरापुर का दौरा किया और “द्वीप प्रहरी” के तौर पर प्रसिद्ध 153 स्क्वाड्रन का भी जायजा लिया। वायु सेना केंद्र प्रोथरापुर और द्वीप प्रहरी में वायु योद्धाओं के साथ बातचीत के दौरान, उन्होंने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की वायु रक्षा को मजबूत करने पर जोर दिया जिसे हिंद महासागर क्षेत्र में बदलती भू-राजनीतिक स्थिति के कारण सामरिक महत्व प्राप्त हुआ है। अपनी यात्रा के दौरान, सिंह ने कुछ योग्य वायु योद्धाओं को उनके कर्तव्य के प्रति असाधारण समर्पण के लिए “मौके पर” ही प्रशस्ति से सम्मानित किया।

    कमांडर इन चीफ ने ब्रूकशाबाद के वायु विहार में वायुसेना कर्मियो के लिए नवनिर्मित आवासीय इलाके का भी दौरा किया जहां उन्हें इलाके में विकसित विभिन्न कल्याण केंद्रों के बारे में अवगत कराया गया। उन्होंने सुदूर द्वीप में विभिन्न चुनौतियों के बावजूद वायु सेना इकाई द्वारा प्रभावी हवाई निगरानी में किए गए प्रयासों की सराहना की।