Rahul Gandhi on Me Bhi Modi ka Parivar
राहुल गांधी (पीटीआई फोटो)

Loading

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के ‘मैं हूं मोदी का परिवार’ कैंपेन पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने जमकर हमला बोला है। कांग्रेस नेता ने अपने आधिकारिक ‘एक्स’ पर लिखा, “किसान कर्जदार, युवा बेरोजगार, मजदूर लाचार! और देश लूट रहा है मोदी का ‘असली परिवार’।” जानकारी के अनुसार, राजद नेता लालू यादव के प्रधानमंत्री मोदी पर हमले के बाद बीजेपी ने लोकसभा चुनाव से पहले ‘मैं हूं मोदी का परिवार’ कैंपेन शुरू किया है। इसके तहत तमाम बीजेपी के नेताओं ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नाम के आगे ‘मैं हूं मोदी का परिवार’ जोड़ा है।

मेरा भारत मेरा परिवार

प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को लालू के इस आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार, परिवारवाद और तुष्टीकरण में आकंठ डूबे ‘इंडी गठबंधन’ के नेता बौखलाते जा रहे हैं। उन्होंने तेलंगाना में एक रैली को संबोधित करते हुए, ‘‘मैं इनके परिवारवाद पर सवाल उठाता हूं तो इन लोगों ने अब बोलना शुरू कर दिया है कि मोदी का कोई परिवार नहीं है। मैं इनसे कहना चाहता हूं कि 140 करोड़ देशवासी ही मेरा परिवार हैं, जिसका कोई नहीं है वो भी मोदी के हैं और मोदी उनका है। मेरा भारत-मेरा परिवार है।” 

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा जीवन एक खुली किताब की तरह है। देश के लोग इसके बारे में जानते हैं। बचपन में जब मैंने घर छोड़ा था तो एक सपना लेकर निकला था कि देशवासियों के लिए जिऊंगा। इस देश के 140 करोड़ लोग मेरा परिवार हैं। मेरा भारत मेरा परिवार।” 

मैं भी मोदी का परिवार

वहीं, प्रधानमंत्री मोदी के इस बयान के बाद बीजेपी नेताओं ने अपने ट्विटर बायो को बदल लिया। गृह मंत्री अमित शाह, जेपी नड्डा और पीयूष गोयल समेत बीजेपी के तमाम नेताओं ने अपने नाम के आगे लिखा, ‘मैं भी मोदी का परिवार।’

लालू ने क्या कहा था?

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने पटना में विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में रविवार को प्रधानमंत्री मोदी पर ‘अपना परिवार’ ना होने को लेकर कटाक्ष किया था। उन्होंने एक रैली में कहा था, ‘‘अगर नरेन्द्र मोदी के पास अपना परिवार नहीं है तो हम क्या कर सकते हैं। वह राम मंदिर के बारे में डींगें मारते रहते हैं। वह सच्चे हिंदू भी नहीं हैं। हिंदू परंपरा में बेटे को अपने माता-पिता के निधन पर अपना सिर और दाढ़ी मुंडवानी चाहिए। जब मोदी की मां की मृत्यु हुई तो उन्होंने ऐसा नहीं किया।”