Election Commission Notice Congress And BJP on PM Modi And Rahul Gandhi Speech
PM मोदी और राहुल गांधी

Loading

नयी दिल्ली: कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि जो अपने आप को देशक्त कहते हैं वो 90 प्रतिशत लोगों के लिए ‘न्याय’ सुनिश्चित करने वाली जाति आधारित जनगणना के ‘एक्सरे’ के विरोध में खड़े हो गए हैं, लेकिन वे जाति आधारित जनगणना को रोक नहीं सकते। उन्होंने यह भी कहा कि देश की 90 प्रतिशत आबादी के लिए न्याय उनकी जिंदगी का मिशन बन गया है।

इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर भी जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि, खुद को देशभक्त कहने वाले एक्स-रे से डरते हैं। दरअसल, पीएम मोदी ने चुनावी रैली में कांग्रेस के घोषणापत्र पर निशाना साधते हुए कहा था कि वो कहते हैं वो देश का एक्स-रे करेंगे। कांग्रेस सत्ता में आई तो लोगों की संपत्ति जब्त करने और उनकी जीवन भर की बचत छीनने के लिए सर्वे कराएगी। उन्होंने कहा, कांग्रेस आपकी संपत्ति छीनने और इसे अपने लोगों में वितरित करने की साजिश रच रही है। जब मैंने उनकी राजनीति उजागर की तो वे इतने नाराज हो गए कि मुझे गालियां देने लगे।

राहुल गांधी ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी उनकी पार्टी के ‘क्रांतिकारी’ घोषणापत्र से घबरा गए हैं । उनका कहना था, ‘‘मैं सिर्फ यह कह रहा हूं कि हिंदुस्तान में आज 90 प्रतिशत लोगों के साथ भयंकर अन्याय हो रहा है। मैंने ऐसा नहीं कहा कि हम कोई कार्रवाई करेंगे, हमने सिर्फ यह कहा कि यह पता लगाएंगे कि कितना अन्याय हो रहा है।” कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘अगर किसी को चोट लगी है और मैं कहूं कि आप एक्सरे करा लीजिए, तो इससे किसी को एतराज तो नहीं होना चाहिए। मीडिया को देखिए, नरेन्द्र मोदी को देखिए, जब मैंने सिर्फ यह कहा कि पता करते हैं कितना अन्याय है तो यह सारे के सारे खड़े हो गए और कहने लगे कि देश को तोड़ने और बांटने की कोशिश हो रही है। एक्सरे से क्या बंटेगा? इससे तो 90 प्रतिशत लोगों को पता चलेगा कि उनकी भागीदारी कितनी है।”

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जाति आधारित जनगणना को कोई शक्ति नहीं रोक सकती है क्योंकि हिंदुस्तान के 90 प्रतिशत लोगों को यह बात समझ में आ गई है। राहुल गांधी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘सारे के सारे देशभक्तों को यह अच्छा लगना चाहिए…देशभक्त तो न्याय चाहता है, वह अन्याय तो नहीं चाहता है। कांग्रेस नेता ने कटाक्ष करते हुए कहा कि भाजपा के लोग अपने आप को देशभक्त कहते हैं लेकिन जातिगत जनगणना के ‘एक्सरे’ से डरते हैं। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर प्रहार करते हुए कहा, ‘‘मोदी ने देश से 10 साल कहा कि वह ओबीसी हैं। जैसे ही मैंने जाति आधारित जनगणना और एक एक्सरे की बात की तो नरेन्द्र मोदी कहते हैं की जाति ही नहीं होती है। अगर जाति नहीं है तो आप ओबीसी कैसे हैं? आपको उसी समय कहना चाहिए था कि मेरी कोई जाति नहीं है।”

उनका कहना था, ‘‘अगर आप महाशक्ति बनना चाहते हैं, चीन से मुकाबला करना चाहते हैं तो 90 प्रतिशत लोगों की शक्ति का इस्तेमाल तो करना पड़ेगा।” उन्होंने कहा कि जाति आधारित जनगणना का ‘एक्सरे’ और न्याय उनके लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है। राहुल गांधी ने कहा, ‘‘यह मेरी जिंदगी का मिशन है। राजनीति में समझौता किया जा सकता है, लेकिन मिशन के साथ समझौता नहीं होता।” उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने अपने चुनिंदा उद्योगपति मित्रों के 16 लाख करोड़ रुपये माफ किए हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी पार्टी इस पैसे का एक हिस्सा 90 प्रतिशत आबादी को देना चाहती है।(एजेंसी)