पीएम मोदी (Photo Credits-Sansad TV)
पीएम मोदी (Photo Credits-Sansad TV)

    नई दिल्ली: संविधान दिवस (Constitution Day 2021) के मौके पर संसद भवन में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने विपक्ष को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने कांग्रेस (Congress) सहित किसी भी दल का नाम नहीं लिया लेकिन इशारों में ही सही हमला बोल दिया। पीएम ने कहा कि लोकतंत्र के प्रति आस्था रखने वालों के लिए चिंता का विषय है और वह है पारिवारिक पार्टियां। 

    बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत एक ऐसे संकट की तरफ़ बढ़ रहा है, जो संविधान को समर्पित लोगों के लिए चिंता का विषय है, लोकतंत्र के प्रति आस्था रखने वालों के लिए चिंता का विषय है और वह है पारिवारिक पार्टियां। उन्होंने कहा कि जब सदन में इस विषय पर मैं 2015 में बोल रहा था, बाबा साहेब अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर इस कार्य की घोषणा करते समय तब भी विरोध आज नहीं हो रहा है उस दिन भी हुआ था, कि 26 नवंबर कहां से ले आए, क्यों कर रहे हो, क्या जरूरत थी।

    पीएम मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना-

    मोदी ने कहा कि संविधान की भावना को भी चोट पहुंची है, संविधान की एक-एक धारा को भी चोट पहुंची है, जब राजनीतिक दल अपने आप में अपना लोकतांत्रिक कैरेक्टर खो देते हैं। जो दल स्वयं लोकतांत्रिक कैरेक्टर खो चुके हों, वो लोकतंत्र की रक्षा कैसे कर सकते हैं।

    प्रधानमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी ने आजादी के आंदोलन में आधिकारों को लिए लड़ते हुए भी, कर्तव्यों के लिए तैयार करने की कोशिश की थी। अच्छा होता अगर देश के आजाद होने के बाद कर्तव्य पर बल दिया गया होता।