KAALI
Pic: Social Media

    नई दिल्ली. आखिरकार काली डॉक्युमेंट्री फिल्म के पोस्टर को लेकर हुए विवाद में अब कनाडा के म्यूजियम ने इस बाबत माफी मांगी है। बता दें कि, फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलाई की फिल्म को टोरंटो शहर के आगा खां म्यूजियम में प्रदर्शित किया गया था। वहीं भारतीय उच्चायोग द्वारा शिकायत करने के बाद म्यूजियम ने बयान जारी कर इस पर अपना खेद जताया है, साथ ही इस फिल्म को प्रदर्शित नहीं करने का फैसला किया है। 

     क्या है मुद्दा 

    हालांकि अब तक फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलाई ने इस भयंकर विवाद पर कोई भी माफी नहीं मांगी है। दरअसल डॉक्युमेंट्री के पोस्टर में हिंदू देवी ‘काली’ को सिगरेट और LGBTQ के झंडे के साथ दिखाया गया है, जिसे लेकर भयंकर विवाद शुरू हुआ था।

    मांगी माफ़ी 

    अब इस बाबत आगा खां म्यूजियम ने अपने  द्वारा जारी किये गए बयान में कहा है कि, हमें गहरा खेद है कि ‘अंडर द टेंट’ प्रोजेक्ट के तहत म्यूजियम में प्रस्तुत 18 शॉर्ट वीडियो द्वारा सोशल मीडिया पर जारी पोस्ट ने हिंदू और अन्य धार्मिक समुदायों को अनजाने में ही घोर अपमानित किया है। ऐसे में फिल्म का म्यूजियम में अब कोई भी प्रस्तुतिकरण नहीं किया जाएगा। साथ ही कहा गया कि संग्रहालय का मिशन कला के माध्यम से अलग-अलग सांस्कृतियों के बीच समझ और संवाद को बढ़ावा देना है। 

    भारतीय उच्चायोग ने की थी शिकायत

    पता हो कि इस डॉक्यूमेंट्री का पोस्टर जारी होने और इससे उठे विवाद को देखते हुए, ओटावा स्थित भारतीय उच्चायोग ने कनाडा के अधिकारियों एवं समारोह के आयोजकों से ‘इस तरह के सभी उकसावे वाली सामग्रियों को हटाने’ का अनुरोध किया था और शिकायत भी दर्ज करवाई थी। दरअसल इस फिल्म को टोरंटो स्थित आगा खान संग्रहालय में ‘अंडर द टेंट’ प्रोजेक्ट के तहत दिखाया गया है।

    फिल्मकार ने नही मांगी माफ़ी 

    गौरतलब है कि विवादित फिल्मकार लीना मणीमेकलाई की फिल्म के इस पोस्टर का भारत में भारी विरोध हुआ है। दरअसल इस फिल्म के पोस्टर में मां काली की वेशभूषा में एक महिला को LGBTQ के झंडे के साथ,सिगरेट पीते हुए और धुंए के छल्ले उड़ाते हुए दिखाया गया है। इस पोस्टर के रिलीज होते ही हिंदुओं की भावनाओं को इसे ठेस पहुंचाने वाला बताया गया है। वहीं देश में कई लोगों ने फिल्मकार लीना मणीमेकलाई के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की जोरदार मांग की है। हालाँकि लीना मणिमेकलाई की तरफ से विवाद पर कोई भी माफी नहीं मांगी गयी है।