Celebration

नई दिल्ली: यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) में पाए गए कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए स्ट्रेन के बाद पूरी दुनिया ने ऐतिहात बरते हुए  प्रतिबंधों को फिर से लागू किया है। भारत (India) सहित कई देशों ने ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

देश में एक ओर जहां टीकाकरण की तैयारी शुरू हैं, वहीं दूसरी तरफ राज्यों ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए उपाय करना शुरू कर दिया है. इसी क्रम में नए साल के जश्न को लेकर भी नियम  जारी कर दिए हैं. जिसका उल्लंघन करना लोगों को भारी पड़ा सकता हैं, आइए जानते हैं किस राज्य ने क्या नियम बनाए।

महाराष्ट्र(Maharashtra):

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने 22 दिसंबर और 5 जनवरी तक नाईट कर्फ्यू की घोषणा की है। रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। इस दौरान प्रमुख शहरों में सार्वजनिक स्थानों पर नए साल की जश्न पर प्रतिबंधित रहेगा। उदाहरण के लिए, मुंबई  पुलिस ने नए साल की पार्टियों पर सख्त प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।

नए साल के जश्न के लिए, संबंधित अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि एक समय में केवल 50 लोगों को ही अनुमति दी जाए और साथ ही यह रात 8 बजे से पहले आयोजित किया जाए। इसी के साथ नए साल में पठाके फोड़ने पर भी प्रतिबंध है।

कर्नाटक (Karnataka)

सरकार ने 30 दिसंबर और 2 जनवरी के बीच नए साल की पार्टियों की मेजबानी से पब, क्लब और रेस्तरां को प्रतिबंधित करने के उपाय भी किए हैं। पहले से घोषित रात के कर्फ्यू को रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक हाल ही में हटा लिया गया था, लेकिन बड़ी सभाओं पर प्रतिबंध लगा रहेगा। इस बीच, कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को देखते हुए 31 दिसंबर से 1 जनवरी 2021 तक बेंगलुरू में प्रतिबंधात्मक आदेश लागू होंगे।

तमिलनाडु (Tamilnadu)

तमिलनाडु में भी सरकार ने क्लबों, रिसॉर्ट्स, रेस्तरां और यहां तक कि समुद्र तटों पर भी नए साल के जश्न पर प्रतिबंध लगा दिया है। ये प्रतिबंध 31 दिसंबर और 1 जनवरी को लागू रहेंगे। जबकि राज्य में रात का कर्फ्यू नहीं लगाया गया है, लेकिन मरीना बीच नए साल की पूर्व संध्या पर जनता के लिए बंद रहेगा।

राजस्थान (Rajasthan)

राजस्थान में 31 दिसंबर की रात 8 बजे से 1 जनवरी की सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा। एक लाख से अधिक की आबादी वाले राजस्थान के सभी शहरों में ये प्रतिबंध लागू किए जाएंगे। राज्य सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर पटाखों और नए साल के जश्न के उपयोग पर प्रतिबंध लगाते हुए बाजारों को 7 से बंद करने का आदेश दिया है।

उत्तराखंड (Uttarakhand)

देहरादून में, जिला प्रशासन ने नए साल की पूर्व संध्या पर किसी भी सार्वजनिक सभा को रोकने के लिए आदेश जारी किए हैं। ये आदेश देहरादून, मसूरी और ऋषिकेश के पब, बार और रेस्त्रां पर लागू होंगे। अधिकारियों के अनुसार, उल्लंघन कर्ता को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के अन्य प्रासंगिक धाराओं के साथ आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 और महामारी रोग अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh)

यूपी में गौतम बुद्ध नगर जिला प्रशासन ने नए साल के जश्न के लिए विशेष दिशा निर्देश जारी किए हैं। ये दिशा निर्देश नोएडा और जिले के अन्य हिस्सों पर लागू होंगे। नए साल की पार्टियों के आयोजकों को संबंधित डीसीपी को अपना विवरण प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है। उन्हें कोरोना वायरस प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनु पालन सुनिश्चित करने के लिए भी कहा गया है।

इसी के साथ एक जगह पर 100 से अधिक लोगों की अनुमति नहीं दी जाएगी। ड्रोन कैमरों का उपयोग समारोहों की निगरानी के लिए किया जाएगा और ध्वनि प्रणालियों का उपयोग भी अदालत के आदेशों के अधीन किया जाएगा।

पंजाब (Punjab)

पंजाब में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे के बीच कर्फ्यू पहले से ही लगा हुआ है और अब इसे 1 जनवरी तक बढ़ा दिया है। पंजाब सरकार ने 11 दिसंबर को राज्य में 100 लोगों से ज्यादा वाले इनडोर सभाओं को प्रतिबंधित करने वाले दिशा निर्देश जारी किए थे।

मणिपुर (Manipur)

मणिपुर में पहले से ही रात का कर्फ्यू लागू है. जो शाम 6 बजे से 4 बजे तक रहता है। राज्य सरकार ने पुष्टि की है कि यह नए साल की पूर्व संध्या और नए साल पर भी प्रभावी रहेगा। हालांकि, मणिपुर प्रशासन ने सार्वजनिक स्थानों पर नए साल के जश्न की अनुमति दी है जब तक कि कोरोना की एसओपी के पालन करते हुए।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)

राज्य सरकार ने  हिमाचल प्रदेश के आठ जिलों में 5 जनवरी तक नाईट कर्फ्यू लागू हैं। इनमें शिमला, मंडी, कांगड़ा और कुल्लू शामिल हैं। नए साल के जश्न में भी यह लागू रहेगा।

ओडिशा (Odisha)

ओडिशा के कटक और भुवनेश्वर में, अधिकारियों ने नए साल की पूर्व संध्या पर कड़ा प्रतिबंध लगाए हैं। पब, होटल या रेस्त्रां में किसी भी जश्न की अनुमति नहीं होगी। इसी के साथ जिलाधिकारियों ने नागरिकों से घरों के अंदर नया साल मनाने का आग्रह किया है।