mihir-bhoj

    नोएडा. दादरी (Dadari) में सम्राट मिहिर भोज (Emperor Mihir Bhoj) की प्रतिमा से गुर्जर (Gurjar) शब्द हटाने के विरोध में रविवार को बिना अनुमति के महापंचायत करने और धारा 144 तथा कोविड-19 के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के आरोप में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक अवतार सिंह भड़ाना समेत 150 लोगों व करीब 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

    एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस ने मुजफ्फरनगर के मीरापुर से भाजपा विधायक अवतार सिंह भड़ाना, मुखिया गुर्जर, मेरठ के जिला पंचायत सदस्य कुलविंदर, इंद्र प्रधान, श्याम सिंह भाटी, कुलदीप, प्रमेंद्र भाटी समेत 150 लोगों और 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

    इस संबंध में पुलिस ने 200 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिन्हें देर रात को जमानत पर रिहा कर दिया गया। दादरी के मिहिर भोज पीजी कॉलेज में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा के अनावरण के दौरान शिलापट्ट से गुर्जर शब्द हटाने के विरोध में अब दो अक्टूबर को समिति के पदाधिकारियों की बैठक परी चौक के पास स्थित अखिल भारतीय गुर्जर शोध संस्थान में होगी। इसमें हरियाणा, राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों के गुर्जर बिरादरी के लोग भाग लेंगे।

    रविवार की महापंचायत में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुईं जबकि परंपरागत रूप से इस तरह की पंचायतों में महिलाओं की भागीदारी नहीं रहती थी। चिटैहरा गांव निवासी ममता भाटी आठ-10 महिलाओं के साथ पंचायत में शामिल हुईं। माता गुजरी पन्नाधाय ट्रस्ट की अध्यक्ष रेखा गुर्जर, सचिव शशि लोहिया, वीर गुर्जर सेना की राष्ट्रीय अध्यक्ष ममता भाटी, राष्ट्रीय महासचिव सरगम लोहिया, सचिव बबीता भी महापंचायत में शामिल हुईं।