Pargat Singh, Razia Sultan and Siddhu
LtoR: परगट सिंह, रजिया सुल्ताना और नवजोत सिंह सिद्धू

    चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) के भीतर घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu Resigns) ने पंजाब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच खबर है कि सिद्धू के समर्थन में योगिंदर ढींगरा (Yoginder Dhingra Resigns) ने भी पंजाब कांग्रेस के महासचिव के पद से इस्तीफा दे दिया है।

    इससे पहले सिद्धू के इस्तीफे के बाद गुलजार इंदर चहल (Gulzar Inder Chahal Resigns) ने पंजाब कांग्रेस के कोषाध्यक्ष का पद छोड़ा। जबकि पंजाब कैबिनेट की मंत्री रजिया सुल्ताना (Minister Razia Sultana Resigns) और परगट सिंह (Pargat Singh Resigns) ने भी इस्तीफा दे दिया। परगट सिंह पंजाब सरकार में शिक्षा मंत्री बनाए गए थे। उन्होंने सिद्धू के समर्थन में इस्तीफा दिया है। सिद्धू के समर्थन में अभी तक कुल पांच नेताओं ने इस्तीफा किया है।

    सिद्धू सिद्धांतों के आदमी

    रजिया सुल्ताना ने इस्तीफा देने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि, “सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं।”

    पंजाब कांग्रेस के महासचिव का इस्तीफा

    सिद्धू के इस्तीफे के बाद योगिंदर ढींगरा ने भी पंजाब कांग्रेस के महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके अलावा गौतम सेठ ने भी पंजाब कांग्रेस के महासचिव (प्रभारी प्रशिक्षण) के पद से इस्तीफा दे दिया है। 

    सिद्धू का इस्तीफा स्वीकार नहीं

    कांग्रेस के विधायक बावा हेनरी ने कहा, “नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा (पंजाब कांग्रेस प्रमुख के रूप में) स्वीकार नहीं किया गया है, जल्द ही मामले को सुलझा लिया जाएगा। 3-4 मुद्दे हैं, पार्टी फोरम में उनकी चर्चा हो रही है, आलाकमान उनका समाधान करेगा।”

    नवजोत सिंह सिद्धू से करेंगे अनुरोध

    इस मामले में कांग्रेस विधायक सुखपाल सिंह खैरा मीडिया से बात करते हुए ने कहा, “उन्होंने (नवजोत सिंह सिद्धू) पंजाब में भ्रष्टाचार के खिलाफ स्टैंड लिया था…, अगर उनके सुझावों पर ध्यान नहीं दिया गया, तो वे अवाक अध्यक्ष नहीं बनना चाहेंगे।”

    उन्होंने कहा, “हम नवजोत सिंह सिद्धू से अनुरोध करेंगे कि वे अपना इस्तीफा वापस लें। इसके साथ ही हम पार्टी हाईकमान से उम्मीद करते हैं कि एक अच्छा नेता हमें पंजाब में मिला है, आप इनकी शिकायतों का निवारण करें।”

    नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी को सौंपा इस्तीफा

    नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को पत्र लिखकर अपना इस्तीफा सौंपा है। वहीं नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखी अपनी चिट्ठी में कहा कि, “किसी भी शख्स के व्यक्तित्व में गिरावट समझौते से शुरू होती है। मैं पंजाब के भविष्य को लेकर कोई समझौता नहीं कर सकता हूं। इसलिए मैं पंजाब प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं।”