Farmer Protest Internet service restored in Haryana
दिल्ली कूच किसान आंदोलन के बाद बंद सेवाएं एक-एक करके हो रही बहाल

Loading

चंडीगढ़:  किसान आंदोलन की वजह से रोकी गई सेवाओं को  हरियाणा सरकार ने बहाल करना शुरू कर दिया है। हरियाणा के सात जिलों में 13 फरवरी से इंटरनेट सेवाएं बंद थीं। अंबाला, फतेहाबाद, सिरसा, कैथल, कुरुक्षेत्र, जींद और हिसार में आज सुबह इंटरनेट सेवा शुरू कर दी गई। आसार है कि सील किए गए रास्ते पर भी सरकार अब कुछ राहत दे सकती है। 

सील की गई बॉर्डर भी खुलने के आसार

दिल्ली कूच किसान आंदोलन की वजह से इंटरनेट सेवाएं बंद होने के साथ ही पंजाब से लगती जिले की बॉर्डर भी सील कर दी गई थीं। पहेवा इलाके में पंजाब से लगते ट्यूकर और इस्मा इलाहाबाद के कुम्हार माजरा बॉर्डर को सील किया हुआ था। इसके अलावा नेशनल हाईवे 44 को भी शाहबाद में मारकंडा नदी के पास शील कर दिया गया था। इंटरनेट सेवा बहाल होने के बाद उम्मीद जताई जा रही है सील की गई बॉर्डर को भी खोल दिया जाएगा।

 ये बॉर्डर खुल और खोले जा रहे

 किसानों का दिल्ली कूच 29 फरवरी तक स्थगित होने के बाद दिल्ली प्रशासन ने राजधानी दिल्ली की तरफ बॉर्डर खोलने शुरू कर दिए हैं। शनिवार को NH-44 स्थित कुंडली-सिंघु बॉर्डर की सर्विस रोड से दिल्ली पुलिस ने बुलडोजर की मदद से बैरिकेड्स हटा दिए। बहादुरगढ़ में भी टीकरी बॉर्डर का एक हिस्सा खोल दिया गया। रविवार सुबह तक वाहनों की आवाजाही शुरू हो जाएगी।

सिंघु बॉर्डर की सर्विस लेन और टिकरी की एक लेन खुली

पुलिस ने दो सप्ताह से बंद सिंघु बॉर्डर की सर्विस लेन और टिकरी बॉर्डर की एक लेन खोलने का फैसला किया। शनिवार शाम करीब चार बजे सिंघु बॉर्डर पर दोनों तरफ की एक-एक सर्विस लेन खोलने पर काम शुरू किया गया जो देर रात तक चला। वहीं, पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा के निर्देश पर ये कदम उठाया जा रहा है। 

बहादुरगढ़ में हटाए जा रहे बैरिकेड

बहादुरगढ के टीकरी बॉर्डर से शनिवार को 6 में से 5 लेयर की बैरिकेडिंग हटाई गई है। यहां केवल कंक्रीट की दीवार हटाना बाकी है। बहादुरगढ़ में सेक्टर 9 मोड़ से अभी बैरिकेड्स नहीं हटाए गए हैं।

NH -44 के सर्विस रोड को शुरू किया खोलना

किसानों के दिल्ली कूच के आह्वान के बाद 13 फरवरी को बंद किए गए नेशनल हाईवे-44 के सर्विस रोड को दिल्ली की सीमा से पुलिस ने खोलना शुरू कर दिया है। दिल्ली पुलिस सर्विस रोड पर चारों लेन को खोल रही है।