farmers
File Pic

    नयी दिल्ली. सुबह कि बड़ी खबर के अनुसार दिल्ली की सीमाओं (Delhi Borders) पर साल भर से चल रहा किसान आंदोलन (Kisan Andolan) शायद अब अपने निर्णायक मोड़ आ चूका है। वहीं इस वक्त कि बड़ी ख़बर ये आ रही है कि संयुक्त किसान मोर्चा की अर्जेंट बैठक अब से कुछ ही देर में यानी आज सुबह 10।30 बजे होने जा रही है। इस बैठक में पांच किसान नेता का जो पैनल बनाया गया है वो आज आंदोलन पर गहन चर्चा करेगा।

    बता दें की कृषि कानूनों की वापसी के ऐलान के बाद संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले  40 से ज्यादा किसान संगठनों ने 21 नवंबर को पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर छह मांगे रखी थीं। वहीं बीते मंगलवार को केंद्र सरकार ने किसान संगठनों को एक विस्तृत प्रस्वाव भेजा है। हालांकि, किसान संगठनों को इस प्रस्ताव पर भी आपत्ति है और मंगलवार को सिंघु बॉर्डर पर इसको लेकर करीब पांच घंटे लंबी बैठक चली।

    ऐसे में अब अब अधिकांश किसान आंदोलन को खत्म करने के पक्ष में हैं, लेकिन राकेश टिकैत की अगुवाई वाले भारतीय किसान यूनियन सहित कुछ धड़े MSP पर कानून की गारंटी के बिना आंदोलन खत्म नहीं करना चाहते हैं।

    हालाँकि वहीं एक अन्य किसान नेता और SKM के सदस्य ने कहा था कि,  “बुधवार को आंदोलन समाप्त होने की संभावना है क्योंकि किसानों की मांगों पर सरकार की ओर से कुछ सकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिली हैं।”