tiger life
File Pic

    कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) पहली बार इस साल बाघों (Tigers) की गणना करते समय हिरण और हाथियों जैसे बड़े शाकाहारी जानवरों की भी गिनती की जाएगी।

    मुख्य वन्यजीव वार्डन देबल रॉय ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि पहले बाघों की गणना केवल उनको ध्यान में रखकर की जाती थी, लेकिन इस वर्ष से, अखिल भारतीय समन्वित बाघ गणना द्वारा निर्धारित गणना में बड़े शाकाहारी जानवरों को भी शामिल किया जाएगा।

    उन्होंने कहा, ‘‘ बाघों के पारिस्थितिकी तंत्र के लिए शाकाहारी जीव महत्वपूर्ण हैं। इस प्रकार, यह जानना अनिवार्य है कि वन क्षेत्र में बाघों के साथ कितने शाकाहारी जानवर हैं।”

    रॉय ने कहा कि हिरण, मृग, गौर, गैंडा और हाथी की गिनती की जाएगी। 2019-2020 की गिनती में सुंदरबन में बाघों की संख्या 95 थी, वन विभाग को उम्मीद है कि आगामी गणना में उनकी संख्या अधिक होगी। यह दिसंबर में शुरू होगी और जनवरी तक जारी रहेगी। उन्होंने बताया कि भारतीय वन्यजीव संस्थान (डब्ल्यूआईआर्द) गिनती के बाद आंकड़ों का विश्लेषण करेगा।