Photo: Arvind Kejriwal/ ANI Twitter
Photo: Arvind Kejriwal/ ANI Twitter

    अहमदाबाद: दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि उंगली उठाने के बजाय सरकार व लोगों को मिलकर उस हालात को सामान्य करने के लिए काम करना चाहिए, जिसकी वजह से उदयपुर और अमरावती की हत्याएं हुईं।  राजस्थान के उदयपुर में 28 जून को दर्जी कन्हैयालाल की हत्या कर दी गई थी जबकि 21 जून को महाराष्ट्र के अमरावती में दवाविक्रेता (केमिस्ट) की हत्या कर दी गई।

    पुलिस का दावा है कि दोनों हत्याएं भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा की पैगंबर मोहम्मद पर दी गई कथित आपत्तिजनक टिप्पणी का सोशल मीडिया पर समर्थन करने की वजह से की गई है। दोनों ही मामलों की जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) कर रही है।  इन दोनों हत्याओं के बारे में पूछे जाने पर केजरीवाल ने कहा कि देश में जो भी मौजूदा समय में हो रहा है वह ठीक नहीं है और वह इनकी कड़े शब्दों में निंदा करते हैं। 

    सभी को एक साथ रहना चाहिए

    उन्होंने कहा, ‘‘इस तरह देश प्रगति नहीं कर सकता। देश में शांति की जरूरत है और सभी को एक साथ रहना चाहिए। मैंने कड़े शब्दों में इसकी निंदा की है और मैं दोबारा इसकी निंदा करता हूं। उम्मीद करता हूं कि आरोपियों को यथाशीघ्र गिरफ्तार कर कड़ी सजा दी जाएगी ताकि दूसरे इस तरह का अपराध करने की हिम्मत नहीं कर सके।”

    उंगली उठाने से कुछ नहीं होगा

    जब उनसे पूछा गया कि वह इन घटनाओं के लिए किसे जिम्मेदार मानते हैं तो आप प्रमुख ने कहा, ‘‘उंगली उठाने से कुछ नहीं होगा। जरूरत है कि सरकार और लोग हालात को सामान्य करने के लिए एक साथ आए।” दिल्ली के मुख्यमंत्री गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर हैं जहां पर इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं।  उन्होंने कहा कि आप का गुजरात में इतने कम समय में विस्तार छोटी बात नहीं है। केजरीवाल ने दावा किया कि राज्य की जनता 27 साल के भाजपा शासन से उब चुकी है।”

    जनता 27 साल के भाजपा शासन से उब चुकी है

    केजरीवाल ने कहा, ‘‘इस बार लोग आप को बड़ी उम्मीद से देख रहे हैं। आज,करीब 7,500 (नव नियुक्त) आप पदाधिकारी शपथ लेंगे। कम समय में इतना विस्तार छोटी बात नहीं है।” दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दावा किया, ‘‘जनता 27 साल के भाजपा शासन से उब चुकी है। भाजपा मानती है कि कांग्रेस उसका विकल्प नहीं हो सकती है। यहां तक जनता ने जब पिछले चुनाव में कांग्रेस पर दोबारा भरोसा किया और उसके कई प्रत्याशियों को समर्थन दिया तब कई विधायक पार्टी छोड़ भाजपा में शामिल हो गए। इसलिए उसमें अहंकार है।” केजरीवाल सोमवार को मुफ्त बिजली के वादे पर ‘टाउनहॉल’का आयोजन करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘आप को पूरा भरोसा है कि गुजरात में वह अगली सरकार बनाएगी।” (एजेंसी)