rajesh-bhushan

    नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आने वाले त्योहारों को लेकर एक बार जनता को चेताया है। गुरुवार को आयोजित प्रेस वार्ता में स्वास्थ्य सचिव राजीव भूषण ने कहा, “जैसे-जैसे त्योहार नजदीक आ रहे हैं, हम सभी से भीड़ से बचने, शारीरिक दूरी बनाए रखने और फेस मास्क का उपयोग करने की अपील करते हैं। कोरोना के प्रति उचित व्यवहार को बनाए रखते हुए त्योहार मनाएं।”

    देश में ठीक होने की दर लगभग 98 प्रतिशत

    स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, “केरल में मामलों की पूर्ण संख्या घट रही है लेकिन यह अभी भी देश में कुल मामलों की एक बड़ी संख्या में योगदान देता है। देश भर में सक्रिय मामले कम हो रहे हैं, संचयी वसूली दर बढ़ रही है। देश में ठीक होने की दर लगभग 98% है।”उन्होंने कहा, “भारत में 18 जिले 5% से 10% के बीच साप्ताहिक सकारात्मकता की रिपोर्ट कर रहे हैं।”

    भूषण ने कहा, “केरल में सबसे अधिक सक्रिय मामले हैं – 1,44,000 जो देश के कुल सक्रिय मामलों का 52% है। महाराष्ट्र में 40,000 सक्रिय मामले हैं, तमिलनाडु में 17,000, मिजोरम में 16,800, कर्नाटक में 12,000 और आंध्र प्रदेश में 11,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं।”

    डेंगू का टीका एक महत्वपूर्ण एजेंडा

    आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने कहा, “डेंगू का टीका एक महत्वपूर्ण एजेंडा है। कुछ डेंगू स्ट्रेन हैं जिन्हें भारत में कुछ कंपनियों को लाइसेंस दिया गया है। इनमें से कई कंपनियों ने विदेश में अपना पहला चरण परीक्षण किया है। हम और कठोर परीक्षण करने की योजना बना रहे हैं।”

    डब्ल्यूएचओ फैसला करेगा

    वहीं स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सिन को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा मान्यता मिलने के सवाल पर जवाब देते हुए भार्गव ने कहा, “WHO की ओर से जिस पर क्लीयरेंस दी गई है, उसके सारे आंकड़े दे दिए गए हैं। डेटा देखा जा रहा है, डब्ल्यूएचओ फैसला करेगा।”

    बूस्टर डोज की बात फिलहाल उचित नहीं

    वहीं दुनिया के कई देशों में लोगों को बूस्टर डोज देने की अनुमति पर पूछे गए सवाल पर  ICMR के DG ने कहा, “समय की मांग पूरी वयस्क आबादी को कवर करते हुए दो-खुराक टीकाकरण/पूर्ण टीकाकरण देना है। बूस्टर डोज की बात फिलहाल उचित नहीं।”