Himachal pradesh Congress

Loading

शिमला: हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष ने कांग्रेस के बागी विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। बताया जा रहा है कि व्हिप के उल्लंघन मामले में ये नोटिस जारी किया गया है। इस मामले को लेकर विधानसभा स्पीकर के पास हियरिंग चल रही है। आज बजट सेंशन के दौरान पार्टी कि ओर से ब्हिप जारी हुआ था।

दलबदल विरोधी कानून के तहत कार्रवाई की मांग

मिली जानकारी के अनुसार, कांग्रेस के 6 विधायकों ने जारी व्हिप का उल्लंघन किया। उसके बाद पार्टी ने दलबदल विरोधी कानून (anti defection law) के तहत कार्रवाई की मांग की है। जिसे लेकर अध्यक्ष ने सभी छह विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

कांग्रेस ने क्या कहा?

कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश में अपनी सरकार पर मंडराए संकट के बीच बुधवार को कहा कि जनादेश को बरकरार रखने के लिए सारे विकल्प खुले हुए हैं तथा जरूरत पड़ने पर वह कठोर निर्णय लेने से पीछे नहीं हटेगी।  पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने आरोप लगाया कि हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी लोगों के अधिकार को कुचलना और प्रदेश को ‘राजनीतिक आपदा’ में धकेलना चाहती है। 

हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की एक सीट पर हुए मतदान में कांग्रेस के छह विधायकों द्वारा ‘क्रॉस वोटिंग’ किये जाने के बाद भाजपा ने सीट पर जीत हासिल की थी और उसके बाद से राज्य में राजनीतिक संकट पैदा हो गया है। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने पर्यवेक्षकों से बात की है और उनसे कहा है कि वे विधायकों से बात करके जल्द रिपोर्ट सौंपें। उनका कहना है कि पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट के बाद ही कोई कदम उठाया जाएगा ।