Screengrab from Posted Video
Screengrab from Posted Video

    Parwanoo Timber Trail: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) से एक चौकाने वाली घटना सामने आई है। जहां, परवाणू (Parwanoo) में मौजूद रोपवे (Cable Car) में अचानक खराबी आने की वजह से टूरिस्ट (Tourist) फंसे हैं। हालांकि, उन्हें बचाने के लिए दूसरी केबल कार ट्रॉली भेजी गई है। वहीं तकनीकी टीम जल्द से जल्द केबल कार सर्विस को ठीक करने की कोशिश में जुटी हुई है। साथ ही पुलिस भी पूरी स्थिति पर अपनी नजर बनाए हुए है। 

    ANI की ताजा ट्वीट के मुताबिक, सोलन जिले में मौजूद Timber Trail (cable-car) में से दो टूरिस्ट को बचा लिया गया है। वहीं अभी भी 9 लोगों को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है। न्यूज़ एजेंसी ANI ने एक वीडियो भी ट्विटर पर शेयर किया है।

    एसपी सोलन वीरेंद्र शर्मा ने इस बात की पुष्टि करते हुए जानकारी दी है कि, लगभग 1:30 बजे परवाणू के टीटीआर में तकनीकी दिक्कत आने की वजह से केबल कार बीच में अटक गई। केबल कार में फंसे पर्यटकों ने बताया है कि वे लोग रिजॉर्ट जा रहे थे, लेकिन तकनीकी दिक्कत के कारण यहां पर टिंबर ट्रेल फंस चुकी है। हालांकि, उन्हें बचाने की कोशिश की जा रही है, लेकिन वे लोग उतरने की स्थिति में नहीं है। 

    वहीं जानकारी के अनुसार, सोलन के टीटीआर रिसोर्ट परवाणू में टेक्निकल फॉल्ट होने के कारण केबल कार बीते डेढ़ घंट के ज्यादा समय से फंसी हुई है। सोलन विधायक कर्नल धनी राम शांडिल ने कहा है कि, जल्द ही सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला जाएगा, जिसके लिए सेना की मदद ली जाएगी।

    बता दें कि, ऐसी ही घटना कसौली तहसील के परवाणू क्षेत्र में अक्टूबर, 1992 में हुई थी। उस समय दस लोगों की जान हवा में अटक हुई थी। आज भी लोग उस समय को याद करते हैं तो सिहर उठते हैं। उस समय तीन दिन तक दस लोगों को बचाने की कोशिश की जा रही है। जिसमें से एक व्यक्ति की मौत भी हुई थी। उस समय आर्मी व एयर फोर्स के जवानों ने सैकडों फुट की ऊंचाई पर फंसे लोगों की जान बचाई थी।