हादसे का शिकार हुआ वायु सेना का सबसे भरोसेमंद Mi- 17 V5, इस हेलीकॉप्टर की है कई खासियत

    नई दिल्ली: तमिलनाडु के कुन्नुर में आज सेना का एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त (Army Helicopter Crashed) हो गया। इस हेलीकॉप्टर में सीडीएस बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat), उनकी पत्नी और सेना के कुछ वरिष्ठ अधिकारी सवार थे। भारतीय वायु सेना ने जानकारी दी कि ये हेलीकॉप्टर IAF Mi 17 वी 5 हेलीकॉप्टर था, जो हादसे का शिकार हुआ है। इस हेलीकॉप्टर में 14 लोग थे। 

    यह वायु सेना का एक मीडियम लिफ्ट हेलीकॉप्टर (Helicopter) है, जो काफी वायु सेना (Air Force) का एक अहम हिस्सा है। यह कॉम्बैट रोल, सैनिकों और अधिकारियों को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने का काम करता है। तो चलिए आपको बताते हैं क्या है इसकी खासियत…

    रूस में निर्मित है हेलीकॉप्टर 

    Mi 17 V5 हेलीकॉप्टर का निर्माण रूस में किया जाता है। यह एक सब्सिडियरी कज़ान हेलीकॉप्टर्स द्वारा तैयार किया गया है। भारतीय वायुसेना के पास अब तक उपलब्ध Mi सीरीज के हेलीकॉप्टर्स में ये सबसे उन्नत श्रेणी का हेलीकॉप्टर है। इस हेलीकॉप्टर का मुख्य काम ट्रांसपोर्टेशन और सैनिकों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने, युद्ध के क्षेत्र से निकलने और बचाव कार्य में मदद करना है। इसे ज़रूरत पड़ने पर हल्के हथियार लगाकर हमलावर भी बनाया जा सकता है, लेकिन भारतीय वायुसेना इसका आमतौर पर इस्तेमाल गैर युद्धक हेलीकॉप्टर के रूप में ही करती है। 

    ये है खासियत 

    Mi सीरीज के ये हेलीकॉप्टर दुनिया भर के कई देशों में उपयोग किए जा रहे हैं। इन हेलिकॉप्टर्स का प्रदर्शन काफी भरोसेमंद माना जाता है। हेलीकॉप्टर को Mi- 8 के एयरफ्रेम के आधार पर तैयार किया गया है। हालांकि इसमें पहले से कहीं एडवांस तकनीक का यूज़ किया है। हेलीकॉप्टर हर मौसम यानी बेहद ठंडे और बेहद गर्म के माहौल में आसानी से उड़ान भर सकता है।

    हेलीकॉप्टर का केबिन काफी बड़ा होता है। इसका फ्लोर एरिया 12 वर्ग मीटर से ज्यादा है। हेलीकॉप्टर इस तरह से डिजाइन किया गया है कि सामान और सैनिकों को पीछे के रास्ते तेजी से उतारा जा सके। वहीं Mi 17 V5 भारत की विशेष जरूरतों के आधार पर अपग्रेड किया गया है।