Indigo
File Photo

    नई दिल्ली: केबिन क्रू और कर्मचारियों की अनुपलब्धता के कारण शनिवार को देश भर में इंडिगो की 900 उड़ानों में देरी हुई। एयरलाइन को रविवार को भी कर्मचारियों से संबंधित मुद्दों का सामना करना पड़ा। 

    इस बीच, डीजीसीए के एक अधिकारी समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि, नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने इंडिगो के खिलाफ कड़ा संज्ञान लिया है और देश भर में बड़े पैमाने पर उड़ान देरी के पीछे का स्पष्टीकरण मांगा है। 

    एअर इंडिया के भर्ती अभियान में गए थे इंडिगो के चालक दल!

    उल्लेखनीय है कि, इंडिगो की घरेलू उड़ानों में से 55 प्रतिशत शनिवार को देरी से चलीं। जानकरी यह सामने आ रही है कि, बड़ी संख्या में चालक दल के सदस्यों ने बीमारी व अन्य वजहों से छुट्टी ली हुई है। हालांकि, सूत्रों ने यह बताया है कि, चालक दल के सदस्य बीमारी के नाम पर अवकाश लेकर एअर इंडिया (एआई) के भर्ती अभियान में शामिल होने के लिए चले गए थे। 

    1,600 उड़ाने संचालित करती है इंडिगो 

    इस मामले को लेकर डीजीसीए के प्रमुख अरुण कुमार ने बताया कि, हम इसे देख रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, शनिवार को एयर इंडिया के भर्ती अभियान के दूसरे चरण का आयोजन किया गया था। वहीं, इसमें रोग-अवकाश लेने वाले इंडिगो एयरलाइन्स से जुड़े चालक दल के अधिकतर स्टाफ भर्ती अभियान में गए थे। जानकारी के अनुसार, इंडिगो एअरलाइन वर्तमान में रोजाना लगभग 1,600 उड़ान- घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ाने संचालित करती है।