PHOTO-ANI
PHOTO-ANI

    नई दिल्ली: फिल्म ‘कश्मीर फाइल्स’ (Kashmir Files) को लेकर जमकर बवाल चल रहा है। इस फिल्म को लेकर इजरायली डायरेक्टर (Israeli director) और जूरी हेड, नदव लापिद (Nadav Lapid) के विवादित बयान पर उनके देश के राजदूत ने माफी मांग ली है। एक के बाद एक किए ट्वीट में उन्होंने जूरी हेड नदव लापिद को खरी-खोटी सुनाई। नदव लापिद ने भारतीय फिल्म कश्मीर फाइल्स को लेकर विवादित बयान दे दिया था। जिसके बाद से ही इसकी कड़ी निंदा हो रही थी। इजराइल के राजदूत ने उन्हें कड़ी फटकार लगाई है। कहा है कि  तुम्‍हें शर्म आनी चाहिए। 

    भारत में इजरायल के राजदूत नाओर गिलन (Naor Gilan) ने वीडियो के साथ नदव लापिद को खुला लेटर लिखा। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि कश्मीर फाइल्स पर उनकी आलोचना के बाद ऐसा लिखना पड़ रहा है और यह हिब्रू भाषा में नहीं है क्योंकि मैं चाहता हूं कि भारतीय भाई-बहन भी इसे समझ सकें। यह काफी लंबा है इसलिए मैं चाहता हूं कि आप मूल बात पहले जान लो। 

    एक के बाद एक उन्होंने छह ट्वीट किए। गिलन ने कहा कि भारतीय संस्कृति में मेहमान को भगवान की तरह माना जाता है। आपने इफ्फी (IFFI) में जजों के पैनल के हेड के भारतीय आमंत्रण का अपमान किया है। उनके भरोसे, सम्मान और गर्मजोशी से किए गए स्वागत का भी मजाक बना दिया।

    उन्होंने आगे लिखा कि हमारे भारतीय मित्र ‘फौदा’ सीरीज के कलाकारों को यहां बुलाया और उन्हें भारत में काफी प्यार मिला। आपको अपने बर्ताव के लिए आत्ममंथन करने की जरूरत है। मैंने मंच से भी कहा था कि हमारे दोनों देशों में कई समानताएं हैं क्योंकि हम एक तरह के दुश्मन से लड़ रहे हैं और जो हमारा बुरा पड़ोसी ही है।

    गौरतलब है कि इजराइली डायरेक्टर नदव लापिद ने कहा था कि यहां ‘कश्मीर फाइल्स’ के प्रदर्शन से हैरान हूं। यह हमें एक दुष्प्रचार वाली और भद्दी फिल्म लगी, जो इतने प्रतिष्ठित फिल्म समारोह के लिए अनुपयुक्त थी। मैं इस भावना को आपके साथ खुले तौर पर साझा करने में सहज महसूस कर रहा हूं क्योंकि महोत्सव की भावना आलोचनात्मक चर्चा को स्वीकार कर सकती है। इसके बाद से ही बवाल मचा हुआ है।