All corona restrictions were abolished in Delhi, CM Kejriwal said – Schools will open completely from April 1
File Photo

    नयी दिल्ली: दिल्ली सरकार द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन की मांग को ‘बढ़ाचढ़ा’ कर बताए जाने वाली एक रिपोर्ट के सामने आने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ‘आपराधिक लापरवाही’ के आरोपों का सामना करने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि उनका ‘अपराध’ केवल इतना है कि ‘उन्होंने दो करोड़ लोगों को सांसें देने के लिए लड़ाई लड़ी। केजरीवाल ने साथ ही कहा कि जिन्होंने ऑक्सीजन की कमी के कारण अपनों को खोया है,उन्हें ‘‘झूठा” नहीं कहा जा सकता।

    दरअसल राष्ट्रीय राजधानी के अस्पतालों में ऑक्सीजन की खपत पर ऑडिट के लिए उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित एक उप समूह ने कहा है कि दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन की खपत को ‘बढ़ाचढ़ा’कर पेश किया था। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) के निदेशक रणदीप गुलेरिया की अगुवाई वाले पैनल ने कहा कि संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान दिल्ली सरकार ने 30 अप्रैल को 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के आवंटन की मांग की थी, जो ‘‘गलत फॉर्मूला” पर आधारित थी।

    रिपोर्ट सामने आने के बाद भाजपा ने केजरीवाल पर ‘‘ जघन्य अपराध”और ‘‘आपराधिक लापरवाही” का आरोप लगाया।  इनके जवाब में केजरीवाल ने ट्वीट किया,‘‘मेरा अपराध-मैं अपनी दो करोड़ जनता को सांसे देने के लिए लड़ा। जब आप चुनाव रैली कर रहे थे,मैं पूरी रात जाग कर ऑक्सीजन की व्यवस्था कर रहा था।” उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा,‘‘ लोगों ने ऑक्सीजन की कमी की वजह से अपनों को खोया है। उन्हें झूठा मत कहिए, उन्हें बहुत बुरा लग रहा है।”(एजेंसी)