कोरोना मामलों की कमी के चलते कर्नाटक सरकार जल्द लेगी कोविड-19 संबंधी पाबंदियों में ढील पर फैसला

    मैसूरू: कर्नाटक सरकार ने शनिवार को कहा कि वह राज्य में कोरोना वायरस के मामलों में कमी आने के मद्देनजर जल्द ही विशेषज्ञों से विचार विमर्श करने के बाद महामारी से संबंधित पाबंदियों में और ढील देने पर फैसला लेगी। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने पत्रकारों से कहा, ‘‘कोविड-19 पर रविवार या सोमवार को विशेषज्ञों के साथ एक बैठक होगी। अगर आने वाले दिनों में मानदंडों में बदलाव आना है तो हम विशेषज्ञों की राय लेने के बाद यह करेंगे।”

    उन्होंने कहा कि सभी कक्षाओं के लिए स्कूलों को फिर से खोलने से लेकर सभी वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों और सीमावर्ती राज्यों में लोगों की आवाजाही को फिर से खोलने के मुद्दों पर विस्तारपूर्वक चर्चा होगी। बोम्मई ने कहा कि हर किसी की स्वीकृति लेने के बाद एक उचित फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य में कोविड-19 के मामलों में कमी आयी है और संक्रमण दर भी एक प्रतिशत से कम है। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों ने संक्रमण के मामले कम होने पर भी कोई कोताही न बरतने को लेकर आगाह किया है।

     

    स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रवार को संक्रमण दर 0.5 प्रतिशत रही। श्रमिक कार्ड के दुरुपयोग पर एक सवाल के जवाब में बोम्मई ने कहा कि केंद्र ने ‘ई-श्रम’ नाम का एक पोर्टल बनाया है। यह इसलिए बनाया गया है ताकि असली लाभार्थियों को फायदा मिल सके। उन्होंने कहा कि हालांकि अगर ऐसी कोई घटना होती है तो हम मामले की जांच कराएंगे और दोषियों को सजा दिलाएंगे। (एजेंसी)