Karnataka government handed over the investigation of Hubli Neha murder case to CID
कर्नाटक सरकार ने CID को सौंपी नेहा मर्डर केस की जांच (सौजन्य: पीटीआई फोटो)

सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि हमने केस की जांच सीआईडी को सौंप दी है। इसके लिए हम एक स्पेशल कोर्ट का भी गठन करने जा रहे हैं। यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि पुलिस समय से चार्जशीट दाखिल करे, ताकि कोर्ट उसके आधार पर जल्द से जल्द अपना फैसला दे सके।

Loading

नवभारत डिजिटल टीम: कर्नाटक सरकार (Karnataka Government) ने हुबली के नेहा मर्डर केस (Neha Murder Case) की जांच सीआईडी (CID) को सौंप दी है। सूबे के सीएम सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने हुबली के नेहा मर्डर केस की जांच को सीआईडी को सौंपने का फैसला किया है। इससे पहले इस केस की जांच स्थानीय पुलिस कर रही थी। उन्होंने यह भी कहा कि इसके साथ ही एक स्पेशल कोर्ट का गठन भी किया जाएगा, जिसमें केस की यथाशिघ्र सुनवाई होगी। बता दें कि नेहा हत्याकांड को लेकर लोगों में बहुत गुस्सा है। राज्य भर में लोग जमकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और आरोपी को सख्त से सख्त सजा देने की मांग कर रहे हैं।  

सीआईडी को सौंप दी नेहा मर्डर केस की जांच

सीएम सिद्धारमैया ने कहा, “हमने केस की जांच सीओडी (सीआईडी) को सौंप दी है। इसके लिए हम एक स्पेशल कोर्ट का भी गठन करने जा रहे हैं। यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि पुलिस समय से चार्जशीट दाखिल करे, ताकि कोर्ट उसके आधार पर जल्द से जल्द अपना फैसला दे सके। मैं उनके (नेहा के माता-पिता) घर पर नहीं जा सका। हमारे जिले के प्रभारी मंत्री और पार्टी कार्यकर्ता गए थे। एच के पाटिल (कानून मंत्री) भी जा रहे हैं। मैं भी जाऊंगा।”

तेजी से कम हुए अपराध के मामले

प्रदेश के मुख्यमंत्री ने यह भी दावा किया है कि उनकी सरकार के दौरान राज्य में अपराध के मामलों तेजी से कम हुए है। सिद्धारमैया ने कहा, ”साल 2023 (कांग्रेस शासन) में 1295 अपराध के मामले थे। साल 2019-2022 तक भाजपा शासन के चार वर्षों के दौरान इसकी संख्या क्रमशः 1300, 1318, 1342 और 1370 थी। हम अपने कार्यकाल के दौरान सभी को सुरक्षा देंगे। मैं नेहा की हत्या की कड़ी निंदा करता हूं। नेहा के परिजनों की हर मांग पर गौर किया जा रह है।”

हुबली-धारवाड़ नगर निगम के पार्षद और कांग्रेस नेता निरंजन हिरेमथ की बेटी नेहा हिरेमथ (23) की 18 अप्रैल को धारवाड़ के बीवीबी कॉलेज परिसर में कथित तौर पर चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना को लेकर पूरे राज्य में आक्रोष देखा गया था। नेहा, मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन की प्रथम वर्ष की छात्रा थी और आरोपी फैयाज पूर्व में उसका सहपाठी था। फैयाज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। 

बीजेपी ने बताया ‘लव जिहाद’ मामला

इस घटना से लोगों में व्यापक आक्रोश फैल गया और ये आक्रोश विपक्षी भाजपा के बीच राजनीतिक खींचतान में बदल गया है। सत्तारूढ़ कांग्रेस ने इस मामले को व्यक्तिगत कारणों से हुई घटना के तौर पर पेश करने का प्रयास किया। भाजपा ने इसे ‘लव जिहाद’ मामला करार दिया है और दावा किया है कि यह राज्य में कानून-व्यवस्था की विफलता का प्रमाण है।  इस मामले में भाजपा की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और हिंदुत्व संगठनों से जुड़े अन्य संगठनों ने न्याय की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन किया है और आरोपियों को कड़ी सजा देने की मांग की है। कई अन्य स्थानों पर भी इसी तरह के विरोध प्रदर्शन की देखे गए हैं।

हत्या के खिलाफ मुस्लिम समुदाय का विरोध प्रदर्शन

कॉलेज छात्रा नेहा हिरेमथ की हत्या के मामले में सोमवार को मुस्लिम पुरुष और महिलाएं सामने आईं और हिंदू मृतक छात्रा के परिवार का समर्थन करते हुए अपने ही समुदाय के आरोपी फैयाज खोंडुनाईक के खिलाफ प्रदर्शन किया।  हिरेमथ के परिवार के साथ एकजुटता दिखाने और इस नृशंस कृत्य की निंदा करने के लिए मुस्लिम समुदाय के लोगों की दुकानें आधे दिन के लिए बंद रहीं। दुकानदारों ने एक पोस्टर लगाया जिस पर लिखा था, ” नेहा हिरेमथ को न्याय दो।”