court sends accused Abdul Mateen Ahmed Taha and Musswir Hussain Shajib in Bengaluru cafe blast case to 3-day transit remand
बेंगलुरू कैफे विस्फोट मामले के आरोपी अब्दुल मतीन अहमद ताहा और मुस्सविर हुसैन शाजिब (सौजन्य: ट्विटर)

Loading

कोलकाता: शहर की एक अदालत ने शुक्रवार को बेंगलुरू कैफे विस्फोट मामले (Bengaluru Cafe Blast Case) में दो आरोपियों को तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया और एनआईए को उन्हें आगे पूछताछ के लिए कर्नाटक की राजधानी ले जाने की अनुमति दे दी। शहर की सत्र अदालत के मुख्य न्यायाधीश ने राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) के अनुरोध पर उसे ट्रांजिट रिमांड की अनुमति दे दी।

राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे में हुए विस्फोट मामले में मुख्य साजिशकर्ता समेत दो आरोपियों को शुक्रवार को कोलकाता से करीब 190 किलोमीटर दूर पूर्व मेदिनीपुर जिले के दीघा कस्बे में एक होटल से गिरफ्तार किया। मिली जानकारी के अनुसार, आरोपियों अब्दुल मतीन अहमद ताहा और मुस्सविर हुसैन शाजिब बताया जा रहा है। अधिकारियों ने कहा कि आरोपियों मुसव्विर हुसैन शाजिब और ए मतीन अहमद ताहा का कोलकाता के पास एक ठिकाने में मौजूद होने का पता चला जिसके बाद एनआईए की टीम ने उन्हें पकड़ लिया। अधिकारियों ने कहा कि शाजिब ने कैफे में विस्फोटक रखा था और ताहा विस्फोट की योजना बनाने और उसे अंजाम देने का मुख्य साजिशकर्ता है।

एक अधिकारी ने कहा, ‘‘12 अप्रैल 2024 की सुबह एनआईए ने कोलकाता के पास आरोपियों का पता लगाने में सफलता हासिल की। आरोपी वहां पहचान बदल कर रह रहे थे।” अधिकारी ने बताया कि एनआईए, केंद्रीय खुफिया एजेंसियों और पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, कर्नाटक तथा केरल की राज्य पुलिस एजेंसियों के बीच समन्वित कार्रवाई और सहयोग से इस काम को अंजाम दिया गया।

एनआईए ने पिछले महीने इन दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी में मददगार साबित होने वाली सूचना देने वाले को 10 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी। बेंगलुरु में ब्रुकफील्ड के आईटीपीएल रोड पर स्थित कैफे में एक मार्च को विस्फोट हुआ था और तीन मार्च को एनआईए ने इस मामले की जांच का जिम्मा संभाल लिया था।

(भाषा इनपुट के साथ)