‘कू’ अपने कर्मचारियों की संख्या बढ़ाकर 500 करेगी, कई पदों पर होगी भर्ती

    नई दिल्ली. घरेलू सोशल मीडिया मंच ‘कू’ (Koo) अगले एक साल में अपने कर्मचारियों (Employee) की संख्या बढ़ाकर 500 तक करेगी। इसके लिए कंपनी इंजीनियरिंग, उत्पाद और सामुदायिक प्रबंधन टीमों में नियुक्ति करने की योजना बना रही है। अमेरिका के सोशल मीडिया मंच ट्विटर की प्रमुख प्रतिद्वंद्वी कू ने हाल ही में एक करोड़ उपयोगकर्ताओं के आंकड़े को छूने के साथ शानदार वृद्धि दर्ज की है। कंपनी के पे-रोल में फिलहाल 200 कर्मचारी है। 

    कू के सह-संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्ण (Koo co-founder Aprameya Radhakrishna) ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘कंपनी में फिलहाल 200 कर्मचारी है। इंजीनियरिंग, उत्पाद और सामुदायिक प्रबंधन जैस विभागों में नयी नियुक्ति के साथ अगले एक साल में कर्मचारियों की संख्या 500 पर पहुंच जायेगी।” सोशल मीडिया कंपनी इसके अलावा सरकारी संबंध और विपणन, ब्रांड विपणन जैसे क्षेत्रों में भी नए कर्मचारियों की नियुक्ति करेगी लेकिन इनमें छोटी टीमें शामिल होंगी। राधाकृष्ण ने कहा, ‘‘हम सबसे अच्छी प्रतिभा वाले कर्मचारियों को आकर्षित करना चाहते हैं जो हमारे लिए काम कर सकें और भारतीय तकनीक को वैश्विक स्तर पर ले जा सके।”

    राधाकृष्ण और मयंक बिदावतका द्वारा स्थापित कू को पिछले साल शुरू किया गया था ताकि उपयोगकर्ता खुल कर अपनी अभिव्यक्ति रख कर सकें और भारतीय भाषाओं में मंच पर जुड़ सकें। कू को हिंदी, तेलुगू, बांग्ला समेत कई अन्य भाषाओं में इस्तेमाल किया जा सकता है। ट्विटर के साथ भारत सरकार के विवाद और घरेलू डिजिटल मंचों के पारिस्थितिकी तंत्र के विस्तार के लिए बढ़ती मांग के बीच भारत में कू की लोकप्रियता इस साल की शुरुआत में चरम पर थी।

    भारत में कई केंद्रीय मंत्रियों और सरकारी विभागों द्वारा स्वदेशी सोशल मीडिया मंच का समर्थन करने के बाद कू ने पिछले कुछ महीनों में अपने उपयोगकर्ता आधार में भारी वृद्धि देखी है। कंपनी का उपयोगकर्ता आधार पिछले महीने एक करोड़ के आंकड़े को छू गया। कंपनी का उसने अगले एक साल में 10 करोड़ उपयोगकर्ताओं तक पहुंचने का लक्ष्य है। (एजेंसी)