Yogendra Yadav

    नई दिल्ली. संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) (Sankyukta Kisan Morcha) ने लखीमपुर खीरी हिंसा (Lakhimpur Khiri) में जान गवाने वाले एक भाजपा कार्यकर्ता के घर जाने को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) को एक महीने के लिए सस्पेंड कर दिया है। यादव संयुक्त किसान मोर्चा की कोर समिति के सदस्य रहे हैं।

    संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) की गुरुवार को आयोजित एक बैठक में योगेंद्र यादव को एक महीने के लिए सस्पेंड करने का फैसला लिया गया है। अब वे संयुक्त किसान मोर्चा की बैठकों और अन्य गतिविधियों में हिस्सा नहीं ले सकते हैं। बैठक में यादव भी मौजूद थे। इस दौरान उन्होंने अपनी इस हरकत के लिए किसानों से माफ़ी भी मांगी है।

    योगेंद्र यादव 12 अक्टूबर को हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता शुभम मिश्रा के घर उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करने गए थे। जिसके बाद से ही यादव के खिलाफ पंजाब में किसान संघ उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

    यादव ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर तस्वीरें साझा करते हुए लिखा था, “शहीद किसान श्रद्धांजलि सभा से वापिसी में बीजेपी कार्यकर्ता शुभम मिश्रा के घर गए। परिवार ने हम पर गुस्सा नही किया। बस दुखी मन से सवाल पूछे: क्या हम किसान नहीं? हमारे बेटे का क्या कसूर था? आपके साथी ने एक्शन रिएक्शन वाली बात क्यों कही? उनके सवाल कान में गूंज रहे हैं!”

    गौरतलब है कि, 3 अक्टूबर को केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्र टेनी के गांव में राज्य सरकार ने कई उद्घाटन और शिलान्यास कार्यक्रम रखा हुआ था। जहां राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या पहुंचने वाले थे। इसी को लेकर किसान सुबह से ही उनका विरोध कर रहे थे। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए केशव प्रसाद दूसरे रास्ते से कार्यक्रम पहुंचे। वहीं पुराने तय रास्ते पर तिकुनिया गांव पर भाजपा सांसद के कार्यकर्ता तीन गाड़ियों से जा रहे थे। इसी दौरान गाड़ियों ने पैदल चल रहे किसानों को टक्कर मार दी। जिसमें चार किसनों की मौत हो गई, और कई घायल हो गए। इस घटना के बाद वहां मौजूद भीड़ ने गाड़ियों के ऊपर हमला कर दिया। इस झड़प में एक पत्रकार समेत तीन भाजपा कार्यकर्ताओं को भीड़ ने पीटकर मार डाला।

    किसान संगठन ने जहां केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र पर गाड़ी से कुचलकर मारने का आरोप लगाया है। वहीं मंत्री ने इसे नकारते हुए आंदोलन करियों पर पहले हमला कर भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या करने का दावा किया है।