‘राहुल गांधी के DNA की हो जांच…’, केरल के LDF विधायक की टिप्पणी से मचा बवाल, कांग्रेस ने की कड़ी आलोचना

वामपंथी नेताओं ने विजयन के खिलाफ दिए गए बयानों के लिए कांग्रेस नेता की कड़ी आलोचना की और कहा कि उन्हें विजयन के बजाय मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की आलोचना करनी चाहिए। गांधी के खिलाफ अनवर की ‘‘आपत्तिजनक'' टिप्पणी पर विजयन से उनकी प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने एलडीएफ विधायक को सही ठहराया और कहा कि कांग्रेस नेता आलोचना से परे व्यक्ति नहीं हैं।

Loading

पलक्कड : केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (P Vijayan) के ‘‘राहुल गांधी के एक पुराने नाम” संबंधी बयान को लेकर कांग्रेस की कड़ी प्रतिक्रिया के बीच, राज्य में सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (LDF) के विधायक पी वी अनवर (PV Anwar) ने यह कहकर एक और विवाद पैदा कर दिया कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के डीएनए की जांच की जानी चाहिए। व्यवसायी से विधायक बने अनवर ने कहा कि कांग्रेस नेता ‘‘चौथे दर्जे के नागरिक” बन गए हैं, जो गांधी उपनाम से बुलाए जाने के लायक नहीं हैं।

विजयन के खिलाफ गांधी के हालिया बयान से खफा अनवर ने सवाल किया कि नेहरू परिवार से संबंध रखने वाला कोई व्यक्ति इस तरह के बयान कैसे दे सकता है। अनवर ने यहां एलडीएफ स्थानीय समिति द्वारा आयोजित एक बैठक में कहा, ‘‘मेरी राय है कि राहुल गांधी के डीएनए की जांच की जानी चाहिए। इसमें कोई विवाद नहीं है।” गांधी ने राज्य में अपने हालिया प्रचार अभियान के दौरान सवाल किया था कि विपक्ष शासित राज्यों के दो मुख्यमंत्रियों को जेल भेजने वाली केंद्रीय एजेंसियों ने वरिष्ठ मार्क्सवादी नेता से पूछताछ क्यों नहीं और उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं किया, जबकि उन पर कई आरोप लगे हैं।

वामपंथी नेताओं ने विजयन के खिलाफ दिए गए बयानों के लिए कांग्रेस नेता की कड़ी आलोचना की और कहा कि उन्हें विजयन के बजाय मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की आलोचना करनी चाहिए। गांधी के खिलाफ अनवर की ‘‘आपत्तिजनक” टिप्पणी पर विजयन से उनकी प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने एलडीएफ विधायक को सही ठहराया और कहा कि कांग्रेस नेता आलोचना से परे व्यक्ति नहीं हैं। विजयन ने कन्नूर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘राहुल गांधी ने जो कहा है, उसका जवाब उन्हें मिलेगा। वह आलोचना से परे नहीं हैं।”

विजयन ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर हमला करने के लिए ‘‘राहुल गांधी के एक पुराने नाम” का उनके द्वारा संदर्भ दिए जाने का भी बचाव किया और कहा कि यह टिप्पणी राज्य में चुनाव प्रचार के दौरान गांधी द्वारा दिए गए कुछ बयानों के जवाब में की गई । उन्होंने कहा कि इस टिप्पणी से भाजपा और उसके नियंत्रण वाली एजेंसियों को मदद मिली। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता का ऐसा आचरण ‘‘पूरी तरह से बचकाना” था और गांधी को केवल वही नहीं दोहराना चाहिए, जो राज्य में उनकी पार्टी के कुछ नेता उनसे कहते हैं।

उन्होंने यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘इसलिए मैंने कहा कि उन्हें अपने पुराने नाम की ओर लौटना नहीं चाहिए।” विजयन ने एक पत्रकार के सवाल का जवाब देते हुए यह बात कही। उनसे सवाल किया गया था कि उनकी इस तरह की टिप्पणी कितनी उचित है, जबकि अतीत में वह इस तरह के व्यक्तिगत हमलों के खिलाफ रुख अपना चुके हैं।

विजयन ने शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर हमला करने के लिए ‘‘राहुल गांधी के एक पुराने नाम” का संदर्भ दिया था। विजयन ने कहा था कि उनके खिलाफ गांधी की टिप्पणियों से पता चलता है कि कांग्रेस नेता ने समय के साथ अपनी सार्वजनिक छवि में सुधार नहीं किया है। विजयन ने कहा, “राहुल गांधी…आपका पुराना नाम है। किसी भी हाल में ऐसा नहीं होना चाहिए, जिसमें आप अब भी उस स्थिति से नहीं निकले हों।” उन्होंने वरिष्ठ मार्क्सवादी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वी एस अच्युतानंदन की उस टिप्पणी का स्पष्ट जिक्र करते हुए यह कहा था, जिसमें उन्होंने एक दशक पहले गांधी को ‘‘अमूल बेबी” कहा था।