Priyanka Gandhi appeals to people to vote in third phase of Lok Sabha elections
कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (सौजन्य: एक्स)

Loading

चित्रदुर्ग : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि ‘‘देश के सबसे बड़े नेता ने नैतिकता छोड़ दी है, वह लोगों के सामने नाटक करते हैं और सत्य के पथ पर नहीं चलते हैं।” उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षियों की आवाज दबाकर, उनके बैंक खातों पर रोक लगाकर और दो मुख्यमंत्रियों को जेल में डालकर विपक्ष को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है।

प्रियंका ने इस जिला मुख्यालय शहर में एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘एक जमाना था जब देश में एक नेता खड़ा होता था तो देशवासी उससे ये आशा रखते थे कि वह एक नैतिक इंसान होगा। आज देश के ”सबसे बड़े नेता” नैतिकता को छोड़कर आपके सामने नाटक करते हैं।” उन्होंने कहा, ‘‘एक जमाना था जब हम अपने नेताओं से ये उम्मीद रखते थे कि वे सत्य के पथ पर चलेंगे। आज देश के सबसे बड़े नेता अपनी सत्ता दिखाने निकलते हैं, अपनी शान, अपनी शोहरत दिखाते हैं, लेकिन सत्य के पथ पर नहीं चलते।”

प्रियंका ने कहा कि एक समय था जब नेता परोपकारी और सेवा-उन्मुख होते थे लेकिन अब लोग “देश के सबसे बड़े नेता” में केवल अहंकार देखते हैं। प्रियंका ने रेखांकित किया कि सत्य के रास्ते पर चलना और दूसरों की सेवा करने के भाव के साथ देश की सेवा करना हिंदू परंपरा के साथ-साथ राजनीतिक परंपरा भी रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले सभी प्रधानमंत्रियों ने, चाहे वे किसी भी पार्टी से रहे हों, देश के लोगों के लिए समर्पण के साथ काम किया। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘लेकिन आज नरेन्द्र मोदी की सरकार में झूठ हावी है। जब वह अनुचित तरीकों से सरकारें गिराते हैं, तो मीडिया इसे ‘मोदी का मास्टरस्ट्रोक’ कहता है।”

कांग्रेस नेता ने अब खत्म हो चुकी चुनावी बॉण्ड योजना के बारे में कहा कि जिन कंपनियों पर छापे मारे गए उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को चंदा दिया और फिर उनके खिलाफ मामले बंद कर दिए गए। उन्होंने आरोप लगाया, ”अब यह स्पष्ट हो गया है कि कैसे नोटबंदी के माध्यम से काले धन को सफेद किया गया और फिर इसे भाजपा के खाते में जमा किया गया।” प्रियंका ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि “जो कंपनियां 100 करोड़ रुपये भी कमाने में असमर्थ थीं, उन्होंने भाजपा को (चुनावी बॉण्ड योजना के तहत) 1,100 करोड़ रुपये का चंदा कैसे दिया।”

उन्होंने कहा, ”विपक्ष को भ्रष्ट कहकर निशाना बनाया जाता है लेकिन हकीकत यह है कि भाजपा भ्रष्ट है और उसने पिछले 10 वर्षों में देश को गुमराह किया है।” कांग्रेस महासचिव ने एक भाजपा नेता के संविधान बदलने संबंधी बयान को याद करते हुए लोगों से सावधान रहने को कहा। उन्होंने कहा, “आपको उन लोगों की बात ध्यान से सुननी चाहिए जो संविधान को बदलने की बात करते हैं क्योंकि इसका सीधा असर आपके जीवन पर पड़ेगा।”

प्रियंका ने कहा कि भाजपा नेता कभी रोजगार, महंगाई कम करने, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में नहीं बोलते बल्कि वे केवल ”भड़काऊ और ध्यान भटकाने वाली बात” बोलते हैं और मीडिया उनके सामने नतमस्तक हो जाता है। उन्होंने व्यंग्य करते हुए कहा, ”विदेशों में भी लोग कहते हैं कि मोदी दुनिया के सबसे बड़े नेता हैं। इतने दबदबे, गर्व, प्रसिद्धि और अहंकार के साथ, यह कहा जाता है कि मोदी दुनिया में चल रहे युद्धों को एक झटके में रोक सकते हैं।”

प्रियंका ने कहा, ‘‘मैं आपसे पूछना चाहती हूं कि अगर वह (मोदी) इतने बड़े नेता हैं, अगर उनका इतना दबदबा है कि कोई उनसे सवाल नहीं पूछ सकता, तो वह आपके लिए रोजगार पैदा करने में असफल क्यों रहे, महंगाई कम क्यों नहीं की जा सकी, क्यों युवाओं के लिए कोई नयी योजना नहीं लाई गई और आपके परिवारों में विकास क्यों नहीं हुआ?”

उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों में देश ने प्रधानमंत्री के दो या तीन दोस्तों की “अत्यधिक वृद्धि” देखी है, जो दुनिया के सबसे अमीर लोगों में से एक हैं क्योंकि मोदी ने उनका समर्थन किया और उन्हें देश की सारी संपत्ति दे दी। कांग्रेस महासिचव ने कहा, “हर दिन आपसे कहा जाता है कि आपको गर्व महसूस होना चाहिए कि भारत आगे बढ़ रहा है, लेकिन मैं आपसे पूछना चाहती हूं कि पिछले 10 वर्षों में आपको क्या मिला?”

(भाषा इनपुट के साथ)