Karnataka CM Bommai's decision amid hijab-saffron scarf controversy, all high schools and colleges in the state closed for three days
File Photo

    बेंगलुरु: महाराष्ट्र के साथ सीमा विवाद पर कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने शुक्रवार को कहा कि, हमारे मुख्य सचिव ने महाराष्ट्र के मुख्य सचिव को लिखा है कि महाराष्ट्र के मंत्रियों को इस समय कर्नाटक का दौरा नहीं करना चाहिए, जब दोनों राज्यों के बीच ऐसी स्थिति है। सीएम बसवराज बोम्मई का बयान ऐसे समय आया  है, जब कल (3 दिसंबर) को महाराष्ट्र के मंत्री सीमा विवाद को लेकर बेलगाम जाने वाले है। 

    उल्लेखनीय है कि, कर्नाटक-महाराष्ट्र सीमा विवाद को लेकर महाराष्ट्र के शिंदे सरकार के दो मंत्री चंद्रकांत पाटिल और शंभुराज देसाई 3 दिसंबर को बेलगाम जाने वाले है। यहां वे मध्यवर्ती महाराष्ट्र एकीकरण समिति के कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। वहीं, कर्नाटक के साथ दशकों पुराने सीमा विवाद पर उनसे बातचीत करने वाले है। 

    बता दें कि, कर्नाटक-महाराष्ट्र के बीच सीमा विवाद पर अदालती मामले के संबंध में कानूनी टीम के साथ कोऑर्डिनेट करने के लिए पाटिल और देसाई को समन्वय मंत्री बनाया गया है। चंद्रकांत पाटिल ने ट्विटर ट्वीट साझा करते हुए कहा था कि, मध्यवर्ती महाराष्ट्र एकीकरण समिति की ओर से सीमा मुद्दे पर चर्चा करने की मांग की गई थी। मंत्री ने समिति के एक पत्र के साथ ट्वीट किया था, ‘‘इसके अनुसार समन्वय मंत्री शंभुराज देसाई और मैं तीन दिसंबर को बेलगाम का दौरा और चर्चा करेंगे। चलिए मुलाकात करते हैं। चर्चा से निश्चित रूप से एक रास्ता निकलेगा।’’

    वहीं, कर्नाटक और महाराष्ट्र के बीच बढ़ते सीमा विवाद और उच्चतम न्यायालय के समक्ष मामले के सुनवाई के लिए आने के मद्देनजर पुलिस ने सीमावर्ती जिले में सुरक्षा कड़ी कर दी है। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि, उन्होंने शहर सहित बेलागवी जिले में 21 जांच चौकियां स्थापित की हैं और इसके साथ ही कर्नाटक राज्य रिजर्व पुलिस (केएसआरपी) बल के अतिरिक्त कर्मियों को भी तैनात किया गया है।