shivraj
File Pic

    भोपाल. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ ने कहा कि मध्य प्रदेश का कोरोना वायरस संक्रमण कुछ नहीं बिगाड़ सकता क्योंकि राज्य के मुख्यमंत्री ‘‘शिव” और भाजपा के प्रदेश इकाई के अध्यक्ष ‘विष्णु’ हैं। वर्तमान में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हैं जबकि विष्णु दत्त शर्मा प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष हैं। विपक्षी दल कांग्रेस ने कहा कि सामान्य मृत्यु दर से अधिक प्रदेश में‘‘इस साल जनवरी से मई तक 3.28 लाख मौतें” हुई हैं,इसके बावजूद इस तरह के बयान देकर भाजपा नेता केवल अपनी पार्टी कार्यकर्ताओं की वाहवाही लेने में लगे हुए हैं।

    रविवार को चुघ ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘ मध्य प्रदेश का कोरोना क्या बिगाड़ लेगा जिस प्रदेश का प्रदेश अध्यक्ष विष्णु और मुख्यमंत्री शिव (Shivraj Singh) हो।” चुघ ‘राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान’ में शामिल होने यहां प्रदेश भाजपा कार्यालय में आए थे। यह भाजपा कार्यकर्ताओं को स्वास्थ्य देखभाल का प्रशिक्षण प्रदान करने का एक कार्यक्रम है ताकि वे महामारी और अन्य स्वास्थ्य संबंधी संकट के दौरान स्वेच्छा से काम कर सकें। चुघ ने कहा कि इस साल दिसंबर तक देश के स्वास्थ्य केंद्रों में कोविड-19 रोधी टीकों की 135 करोड़ खुराक पहुंच जाएंगी। इस बीच, प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि उसके नेता सिर्फ अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं की तालियां हासिल करने के लिए इस तरह बोलते हैं।

    गुप्ता ने दावा किया, ‘‘ इस साल जनवरी से मई के बीच मध्यप्रदेश में 3.28 लाख लोगों की मौत हुई जो कि सामान्य मृत्यु दर से 54 प्रतिशत अधिक थी।” उन्होंने कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने खुद स्वीकार किया कि भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं के परिवारों के 3,500 लोगों की संक्रमण से मौत हुई है। गुप्ता ने सवाल किया, ‘‘चुघ को हमें बताना चाहिए था कि शिवराज और विष्णु दत्त उस समय कहां थे, जब कोविड-19 कहर बरपा रहा था? क्या वे सो रहे थे और भविष्य में वे महामारी पर अंकुश कैसे लगाएंगे?”

    मध्यप्रदेश के दोनों भाजपा नेताओं की हिंदू देवताओं से तुलना करने पर गुप्ता ने कहा, ‘‘ पूरी दुनिया में तानाशाही ताकतें स्वंय को सर्वोच्च शक्ति मानती हैं। ऐसी ताकतें मानती हैं कि वे भगवान हैं।” इस पर प्रदेश भाजपा के सचिव रजनीश अग्रवाल ने कहा कि यह सिर्फ बोलने का एक तरीका था।

    अग्रवाल ने कहा, ‘‘ उन्होंने (चुघ) केवल मुख्यमंत्री और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के प्रथम नामों का उल्लेख किया था।” उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार और भाजपा संगठन महामारी के दौरान लोगों की सेवा में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ महामारी दुनिया भर में फैल गई। यह अहम है कि प्रदेश सरकार इससे कैसे निपटी और भाजपा संगठन ने संकट के समय लोगों की सेवा की। अब, महामारी नियंत्रण में है।” अग्रवाल ने आरोप लगाया कि महामारी के दौरान कांग्रेस ने केवल अराजकता ही फैलाई। प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार रविवार को प्रदेश में संक्रमण के दस नए मामले सामने आए। मध्यप्रदेश में संक्रमण के मामले बढ़कर 7,91,960 हो गए जबकि प्रदेश में इस महामारी से 10,514 लोगों की मौत हुई है।