राष्ट्रीय बलाधिकार आयोग प्रमुख का बड़ा खुलासा, असम के बाल गृहों को अलकायदा से फंडिंग

नई दिल्ली: राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights) के प्रमुख प्रियंक कानूनगो (Priyank Kanoongo) ने असम (Assam) के बाल गृहों (Children’s homes) को लेकर बड़ा खुलासा किया है। रविवार को पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, “असम में बाल गृहों की जांच से पता चला कि इन सभी को तुर्की (Turkey) के गैर सरकारी संगठन आईआईएच अंतराष्ट्रीय (IHH International) से धन प्राप्त हुआ है, साथ ही बच्चों के व्यक्तिगत विवरण उनके साथ साझा किए गए। तुर्किश एजेंसी (Turkish Investigations Agency) अल-कायदा (Al Qaeda) के साथ संबंधों को लेकर इस संस्था के अधिकारियों की जांच कर रही है।” 

एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश   

कानूनगो ने कहा, “हमने बच्चों के रिकॉर्ड में विसंगतियां पाईं, उन्हें अधिकार नहीं दिया गया और उन्हें शारीरिक दंड दिया गया। हमने राज्य सरकार को रिपोर्ट सौंप दी है और अपंजीकृत गृहों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की है। हमने सरकार से जांच के लिए विशेष एजेंसियों को शामिल करने का आग्रह किया है