Omicron In India : Omicron, a dangerous variant of corona, knocks in India, virus confirmed in two people in Karnataka
Photo:ANI

    नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में सामने आए कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए स्वरूप (New Variant of Coronavirus) ओमीक्रोन (Omicron) ने देश में दस्तक दे दी है। सरकार के गुरुवार को जानकारी देते हुए बताया है कि, भारत में इस खतरनाक वायरस के दो मामले सामने आए हैं। दोनों ही मामले कर्नाटक में सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि, 29 देशों में ओमीक्रोन के 373 मामले अब तक दर्ज़ किए गए हैं। 

    ओमीक्रोन को लेकर फिलहाल दुनियाभर के कई देशों में चिंता बढ़ गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि, पिछले 24 घंटे में देश में ओमीक्रोन के 2 मामले दर्ज़ किए गए हैं। ये मामले कर्नाटक में मिले हैं। 66 साल के एक व्यक्ति और 46 साल के एक व्यक्ति में ओमिक्रोन का संक्रमण पाया गया है। अब तक 29 देशों में ओमीक्रोन  के 373 मामले अब तक दर्ज़ किए गए हैं। 

    इस मामले में DG ICMR, बलराम भार्गव ने बताया कि, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा स्थापित 37 प्रयोगशालाओं के INSACOG संघ के जीनोम सीक्वेंसिंग प्रयास के माध्यम से कर्नाटक में अब तक ओमीक्रोन के दो मामलों का पता लगाया है। हमें घबराने की जरूरत नहीं है लेकिन जागरूकता बेहद जरूरी है। COVID उपयुक्त व्यवहार की आवश्यकता है। 

    लव अग्रवाल ने बताया कि, पॉज़िटिव पाए गए दोनों लोगों के संपर्क में आए सभी लोगों की पहचान कर ली गई है और उन्हें मॉनिटर किया जा रहा है। इस वायरस से लड़ने के लिए बनाए प्रोटोकॉल का पालन भी किया जा रहा है। लव अग्रवाल ने बताया, सभी ओमीक्रोन संबंधित मामलों में अब तक हल्के लक्षण पाए गए हैं। देश और दुनिया भर में अब तक ऐसे सभी मामलों में कोई गंभीर लक्षण नोट नहीं किया गया है। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि, इस वेरिएंट को लेकर अध्ययन किया जा रहा है। 

    उन्होंने बताया कि, कोविड के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के बारे में बहुत से तथ्य विज्ञान के द्वारा सामने आने वाले हैं। भविष्य में जो भी निर्णय लिए जाए वे सभी निर्णय वैज्ञानिक तथ्यों के सामने आने के बाद ही लिए जाने चाहिए। 

    बता दें कि कोविड-19 वायरस के बी.1.1.529 स्वरूप की पहचान इस हफ्ते दक्षिण अफ्रीका में की गई थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने शुक्रवार को इस स्वरूप को ‘चिंता उत्पन्न करने वाले स्वरूप’ की श्रेणी में डाला। विश्व निकाय ने वायरस के इस स्वरूप को ‘ओमीक्रॉन’ नाम दिया है। इस वायरस की सबसे पहले जानकारी 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका में मिली थी।