narendra modi
File Photo

    पणजी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शनिवार को कहा कि उनके 71वें जन्मदिन पर शुक्रवार को देश में लोगों को कोविड-19 टीके (Corona Vaccination) की 2.50 करोड़ से अधिक खुराक दी गईं, जो उनके लिए एक अविस्मरणीय और भावुक करने देने वाला क्षण है। मोदी ने तटीय राज्य में स्वास्थ्य सेवा कर्मियों और टीकाकरण लाभार्थियों के साथ वीडियो लिंक के जरिए संवाद के दौरान कहा, ‘‘आपके प्रयासों से भारत ने एक दिन में 2.5 करोड़ से अधिक खुराक देकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। यह एक ऐसी उपलब्धि है, जिसे दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश भी हासिल नहीं कर पाए हैं।”

    उन्होंने कहा, ‘‘हमने देखा कि देश कल किस प्रकार कोविन डैशबोर्ड को देखता रहा। कल प्रति घंटे 15 लाख और प्रति मिनट 26,000 से अधिक लोगों को टीके लगाए गए। प्रति सेकंड 425 से अधिक लोगों को टीके लगाए गए।” मोदी ने कहा कि वह इस प्रयास के लिए देश के सभी चिकित्सकों, चिकित्साकर्मियों और प्रशासन के लोगों की सराहना करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत की ताकत को दर्शाने वाले इस कार्य को पूरा करने के लिए अत्यधिक प्रयास और कुशल जनशक्ति की आवश्यकता थी।

    उन्होंने कहा, “जन्मदिन आते हैं और चले जाते हैं और मैं ऐसी चीजों से दूर रहा हूं, लेकिन कल मेरे लिए भावुक कर देना वाला दिन था। यह मेरे लिए एक अविस्मरणीय अवसर बन गया है।” मोदी ने किसी पार्टी का नाम लिए बगैर कहा कि उनके जन्मदिन पर टीकों की 2.5 करोड़ से अधिक खुराक दिए जाने के बाद ‘‘एक राजनीतिक दल” को बुखार हो गया। उन्होंने कहा,“लोग कहते हैं कि टीकों के दुष्प्रभाव के रूप में बुखार आता है, लेकिन मेरे जन्मदिन पर 2.5 करोड़ टीके लगाए जाने के बाद एक राजनीतिक दल को बुखार आ गया।”

    मोदी ने तटीय राज्य में शत प्रतिशत आबादी को कोविड-19 रोधी टीके की पहली खुराक दिये जाने के मार्ग में आई चुनौतियों से पार पाने के लिए गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत और उनकी सरकार की सराहना की। मोदी ने कहा कि गोवा टीकाकरण के मामले में भारत में अग्रणी राज्य बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा, ‘‘गोवा दुनिया के सबसे बड़े और सबसे तेज टीकाकरण अभियान ‘सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन’ की सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। गोवा ने पिछले कुछ महीनों में सावंत के नेतृत्व में भारी बारिश, चक्रवात और बाढ़ के खिलाफ बहादुरी से लड़ाई लड़ी।” उन्होंने कहा कि जब पर्यटकों को पता चलेगा कि राज्य में सभी लोगों को टीका लगाया जा चुका है, तो वे भी यहां सुरक्षित महसूस करेंगे और बड़ी संख्या में यहां आएंगे।