Dharmendra Pradhan
File Photo

    नयी दिल्ली. केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Union Education Minister Dharmendra Pradhan) ने शनिवार को कहा कि महाराष्ट्र (Maharashtra) में भारी बारिश (Heavy Rain), भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों (Landslide Affected Areas) के जेईई-मुख्य परीक्षा (JEE Main Exam) के अभ्यर्थियों को परीक्षा में शामिल होने का एक और मौका मिलेगा।

    प्रधान ने एक ट्वीट में कहा, “महाराष्ट्र में भारी बारिश और भूस्खलन के मद्देनजर राज्य के विद्यार्थी समुदाय को राहत प्रदान करने के लिए मैंने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के महानिदेशक को सलाह दी है कि वे उन सभी अभ्यर्थियों को एक और मौका दें, जो तीसरे सत्र में जेईई (मुख्य) परीक्षा में शामिल होने के लिए परीक्षा केंद्र पर पहुंचने में सक्षम नहीं हों ।”

    https://twitter.com/ANI/status/1418936397067472897

    उन्होंने ट्वीट किया, “कोल्हापुर, पालघर, रत्नागिरी, रायगढ़, सिंधुदुर्ग, सांगली, सातारा के वे विद्यार्थी जो 25 और 27 जुलाई को जेईई (मुख्य) परीक्षा-2021 के तीसरे सत्र में शामिल हो पाने में असमर्थ हैं, उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है। उन्हें दूसरा अवसर दिया जाएगा और राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी इस संबंध में जल्द ही तारीख़ों की घोषणा करेगी।”

    महाराष्ट्र में भारी बारिश के बाद विभिन्न हिस्सों में आई बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं के बाद कम से कम 76 लोगों की मौत हो गई और 38 लोग घायल हैं तथा 59 लापता हैं। तटीय कोंकण क्षेत्र के रायगढ़ और रत्नागिरी जिले के हिस्से और पश्चिमी महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं। इसके अलावा सातारा जिले के भी कई हिस्सों में भारी बारिश हो रही है। (एजेंसी)