ANI Photo
ANI Photo

Loading

नई दिल्ली: संसद का विशेष सत्र आज ही ख़त्म हो सकता है। सूत्रों की मानें तो, आज महिला आरक्षण बिल राज्यसभा में पारित होगा। जिसके बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही को अनिश्चित काल के लिए स्थगित किया जा सकता है। बिजनेस अड्वाइसरी की बैठक जारी है, इसमें विशेष सत्र को लेकर अंतिम फैसला किया जाएगा। इससे पहले, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने 31 अगस्त को संसद का विशेष सत्र बुलाने की जानकारी दी थी। उन्होंने एक्स पर पोस्ट कर कहा था कि विशेष सत्र 18 से 22 सितंबर तक चलेगा।

बता दें कि संसद स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय में बिजनेस एडवाइजरी की बड़ी बैठक चल रही है। इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह और प्रल्हाद जोशी मौजूद है।

महिला आरक्षण बिल लोकसभा से हुआ पास

कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने विशेष सत्र के दौरान दूसरे दिन यानी मंगलवार को महिला आरक्षण से जुड़ा विधेयक पेश किया था। जो बुधवार को लोकसभा में पारित हुआ। पर्ची के जरिए वोटिंग प्रक्रिया की गई, जिसमें महिला आरक्षण बिल के समर्थन में 454 वोट पड़े जबकि विरोध में 2 वोट पड़े थे। यह बिल गुरुवार को राज्यसभा में पेश किया गया है।

बिल में ये है प्रावधान

इस बिल में लोकसभा और विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान है। बिल का कानून बनने के बाद 543 सदस्यों वाली लोकसभा में महिला सदस्यों की मौजूदा संख्या (82) से बढ़कर 181 हो जाएगी। 

पीएम मोदी ने बिल का समर्थन करनेवालों का जताया आभार 

लोकसभा और विधानसभाओं में 33 प्रतिशत आरक्षण के प्रावधानों वाले 128वें संविधान संशोधन विधेयक के संसद के निचले सदन में पारित होने पर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया और कहा कि यह महिला नीत विकास को बढ़ावा देने के प्रति उनकी प्रतिबद्धता की एक बार फिर पुष्टि करता है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि जब राज्यसभा में महिला आरक्षण विधेयक का अंतिम पड़ाव पूरा कर लेंगे तो देश की मातृशक्ति का भरोसा देश को नई दिशा देगा।