PM Modi in Odisha

Loading

जाजपुर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओडिशा के जाजपुर में 20,000 करोड़ रुपये मूल्य की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में आप लोगों का यहां आना पूर्व के मूड को दिखाता है। ओडिशा का संकल्प आज बहुत स्पष्ट है। यह संकल्प है ‘अबकी बार 400 पार।’ जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वर्ष 2014 से पहले की सरकारों ने परियोजनाओं को समय पर पूरा करने में कभी दिलचस्पी नहीं दिखाई और जो परियोजनाएं पिछली सरकारों में अटकी रहीं, उन्हें पिछले 10 वर्षों में भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र के कार्यकाल में पूरा किया गया।  

ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) का गढ़ माने जाने वाले जाजपुर जिले के बेनापुर में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार चाहती है कि ओडिशा विकसित भारत का प्रवेश द्वार बने। उन्होंने कहा, “आज जो बड़े पैमाने पर विकास कार्य हो रहे हैं, वे पहले भी किए जा सकते थे… लेकिन 2014 से पहले के वर्षों में, कांग्रेस और उसके सहयोगियों का पूरा ध्यान केवल अपना खजाना भरने पर था।” मोदी ने कहा, ‘‘पिछले 10 वर्षों में, भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने ओडिशा में भारी निवेश किया है। हम चाहते हैं कि ओडिशा विकसित भारत का प्रवेश द्वार बने।”

इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ”आज का ये आयोजन इस बात की भी पहचान है कि पिछले कुछ वर्षों में हमारे देश में कार्य संस्कृति कितनी तेजी से बदली है। पहले की सरकारों को समय पर प्रोजेक्ट पूरा करने में रुचि नहीं होती थी। वहीं हमारी सरकार तेजी से प्रयास करती है। परियोजनाओं को पूरा करें। 2014 के बाद देश में जो परियोजनाएं अटकी हुई थीं, खोई हुई थीं, उन्हें पूरा किया गया।” मोदी ने कहा कि जब गरीबों ने कांग्रेस सरकार से मदद मांगी, तो सरकार ने गारंटी की मांग की। उन्होंने (कांग्रेस) हर किसी से गारंटी की मांग की… 2014 के बाद, एक गरीब आदमी का बेटा सत्ता में आया और प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने कहा कि मोदी गरीबों की गारंटी बनेंगे…”

उन्होंने यह भी कहा कि पक्का घर, घर में नल का पानी और गैस कनेक्शन, जो कभी गरीबों के लिए एक सपना था, ‘‘अब एक वास्तविकता बन रहा है।” उन्होंने कहा, ‘‘मेरा नारा ‘मेरा भारत, मेरा परिवार’ ‘इंडी’ गठबंधन के नेताओं को परेशान करता है। इसलिए वे निजी हमले कर रहे हैं। लेकिन देश भर में गरीबों, युवाओं, किसानों और अन्य लोगों ने यह कहना शुरू कर दिया है कि वे मोदी के परिवार के सदस्य हैं।” मोदी ने बीच-बीच में उड़िया में भाषण दिया, जिससे दर्शकों की तालियां गूंजीं। मोदी ने दावा किया कि विपक्षी दलों का एक सूत्री एजेंडा उन्हें पद से हटाने का है। प्रधानमंत्री ने कहा, “मेरा एजेंडा भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाना है।” उन्होंने कहा, ‘‘उनके लिए परिवार पहले है जबकि मोदी के लिए देश पहले है।” उन्होंने कहा कि 2014 में उनके सत्ता में आने के बाद से 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर आए हैं। मोदी ने आरोप लगाते हुए कहा कि दूसरी ओर, विपक्षी नेताओं का लक्ष्य अपने रिश्तेदारों को अमीर बनाना है।