pitroda-modi
सैम पित्रोदा के बयान पर PM मोदी का हमला

Loading

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के बयान पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जबरदस्त पलटवार किया। उन्होंने कहा कि, अब आप जो अपनी मेहनत से संपत्ति जुटाते हैं, वो आपके बच्चों को नहीं मिलेगी। कांग्रेस का पंजा वो भी आपसे लूट लेगा। कांग्रेस का मंत्र है- कांग्रेस की लूट जिंदगी के साथ भी और जिंदगी के बाद भी। पता हो कि, इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने विरासत टैक्स पर बयान दिया है। इसको लेकर अब देश में विवाद खड़ा हो गया है।

आज छत्तीसगढ़ के सरगुजा में PM मोदी ने कहा कि, ”आपके जीवित रहने तक कांग्रेस आपको ज्यादा टैक्स से मारेगी और जब जीवित नहीं रहेंगे तो आप पर विरासत कर (Inheritance Tax) का बोझ भी लाद देगी। पूरी कांग्रेस को अपनी पैतृक संपत्ति मानकर जिन लोगों ने अपने बच्चों को दे दी, अब वो नहीं चाहते कि भार​तीय अपनी संपत्ति अपने बच्चों को दें।”

वहीँ आज उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिए बिना ही कहा, ”शाही परिवार के एक शहजादे के सलाहकार ने कुछ समय पहले कहा था कि मिडिल क्लास पर और ज्यादा टैक्स लगाना चाहिए। अब ये लोग इससे भी एक कदम और आगे बढ़ गए हैं। इसके बाद अब कांग्रेस का कहना है कि वो विरासत कर लगाएगी। माता-पिता से मिलने वाली विरासत पर भी अब कांग्रेसटैक्स लगाएगी।”

क्या कहा सैम पित्रोदा ने?
बता दें कि, सैम पित्रोदा ने विरासत टैक्स का जिक्र करते हुए कहा कि, अमेरिका में 55% विरासत टैक्स लगता है। सरकार इसमें से 55% हिस्सा ले लेती है। उन्होंने कहा कि संपत्ति जनता के लिए भी छोड़नी चाहिए। अब अगर किसी व्यक्ति के पास 100 मिलियन डॉलर की संपत्ति है तो उसके मरने के बाद 45 फीसदी संपत्ति उसके बच्चों को और 55 फीसदी पर सरकार का अधिकार होता है। पित्रोदा ने कहा कि, भारत में ऐसा कानून को लेकर चर्चा करनी चाहिए। सैम पित्रोदा के इस बयान से कांग्रेस ने हालांकि अपने आप को अलग कर लिया है।

इस बाबत कांग्रेस महासचिव संचार प्रभारी जयराम रमेश ने कहा, “पित्रोदा मेरे सहित लाखों लोगों के गुरु, मित्र और मार्गदर्शक रहे हैं। वे इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं… वे उन मुद्दों पर अपने विचार बहुत स्वतंत्र रूप से व्यक्त करते हैं जिन्हें वे महत्वपूर्ण मानते हैं और यह लोकतंत्र का हिस्सा है। हमेशा ऐसा नहीं है कि वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के विचारों को प्रतिबिंबित करें और इस मुद्दे पर भी यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की आधिकारिक स्थिति को प्रतिबिंबित नहीं कर रहा है। लेकिन मुझे लगता है कि जो हो रहा है वह यह है कि उनकी टिप्पणियों को संदर्भ से अलग कर दिया गया है और उन्हें प्रधानमंत्री के दुर्भावनापूर्ण, जहर भरे अभियान से ध्यान हटाने के लिए सनसनीखेज बनाया जा रहा है… पित्रोदा का बयान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस या पार्टी नेतृत्व का नहीं है।”