PM Modi Security Breach: Supreme Court constitutes committee under the chairmanship of retired apex court judge Justice Indu Malhotra
File Photo:ANI

    नई दिल्ली. सुबह कि बड़ी खबर के अनुसार पंजाब (Punjab) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की सुरक्षा में जिस तरह भयंकर सेंध लगी और जिस तरह उनका काफिला करीब 20 मिनट तक फंसा रहा, अब उसे लेकर पंजाब की चन्नी सरकार पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। जी हाँ सूत्रों के अनुसार पंजाब के मुख्य सचिव ने बीती गुरूवार रात इस मामले पर अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजी है। सूत्रों की मानें तो  रिपोर्ट में मुख्य सचिव ने फैक्ट्स के बारे में भी जरुरी जानकारी दी है।

    अब कई स्तरों पर होगी जांच

    गौरतलब है कि अब बड़ा प्रश्न है कि देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा में सेंध का जिम्मेदार आखिरकार कौन है? इसे लेकर अब कई स्तरों पर जांच होगी। जहाँ एक तरफ केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया है तो इससे पहले पंजाब की चन्नी सरकार ने भी एक हाई लेवल जांच के आदेश दिए हैं। SPG ने भी इसे लेकर आंतरिक जांच के आदेश दिए हैं और केंद्रीय खुफिया ब्यूरो भी इस पर अपनी अलग एक आंतरिक जांच करवा रही है।

    हालाँकि एक दिन पहले ही गृह मंत्रालय ने मामले की जांच के लिए जो कमेटी बनाई है, उसमें 3 सदस्य हैं। कैबिनेट सेक्रेटेरिएट में सुरक्षा सचिव सुधीर कुमार सक्सेना इस कमेटी को हेड कर रहे हैं । उनके अलावा, कमेटी में IB के ज्वाइंट डायरेक्टर बलबीर सिंह और SPG के IG एस.सुरेश भी हैं।

    गौरतलब है कि बीते बुधवार को पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला जब हुसैनीवाला क्षेत्र में एक फ्लाईओवर पर पहुंचा तभी कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया। प्रधानमंत्री कुछ देर तक वहीं फंसे रहे जिसके बाद उनके काफिले ने वापस लौटने का निर्णय किया। इसे प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक बड़ी चूक के तौर पर देखा जा रहा है। गृह मंत्रालय ने इस पर कड़ा संज्ञान लिया है।