navjot
File Pic

    नई दिल्ली: पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election 2022) से पहले कांग्रेस से बागी हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने अपनी खुद की पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है। जिससे कांग्रेस को कितना नुकसान होगा यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा। अमरिंदर ने बुधवार को अपनी नई राजनीतिक पार्टी की घोषणा करते हुए कहा कि नाम जल्द बताया जाएगा। हालांकि अमरिंदर ने यह साफ नहीं किया है कि क्या वह भाजपा के साथ गठबंधन करेंगे या नहीं? लेकिन अगर अमरिंदर की पार्टी का बीजेपी से गठबंधन हुआ तो कांग्रेस की चुनौतियां बढ़ सकती हैं। 

    ज्ञात हो कि पंजाब में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। अमरिंदर ने भले ही नई पार्टी का ऐलान कर दिया है लेकिन उन्हें जनता का आशीर्वाद मिलेगा या नहीं इसके लिए इंतजार करना पड़ेगा। लेकिन इतना तो तय है कि उनकी सीधी टक्कर कांग्रेस से है। जानकारों का कहना है कि अगर अमरिंदर की पार्टी और बीजेपी के साथ जाते हैं तो कांग्रेस की परेशानियां बढ़ जाएंगी। इसके पीछे की वजह है अकाली दल और बसपा साथ चुनाव लड़ रहे है। आम आदमी पार्टी भी खुद को तेजी से मजबूत कर रही है। ऐसे में अगर कांग्रेस अकेले मैदान में उतरती है तो कई सीटों पर उसकी दिक्कतें बढ़ सकती हैं। 

    वहीं अमरिंदर और भाजपा के साथ आने से उसका पलड़ा भारी हो जाएगा। खबरें यह भी हैं कि कई विधायक आने वाले समय में अपना पाला बदल सकते हैं। कहा यह भी जा रहा है कैप्टन के करीबी विधायक चुनाव से पहले वहां जा सकते हैं। हालांकि हर गठबंधन के लिए जीत में जनता का आशीर्वाद बड़ा रोल अदा करता है। ऐसे में अमरिंदर कितने असरदार साबित होंगे यह चुनाव में पता चल जाएगा।