Enforcement Directorate, ED

    नयी दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) धन शोधन और विदेशी विनिमय उल्लंघन जांच के दौरान क्यूआर कोड और पासवर्ड वाले सम्मन जारी करेगा, क्योंकि यह पाया गया था कि कुछ व्यक्ति पैसे ऐंठने के लिए लोगों को फर्जी नोटिस जारी कर रहे थे। जांच एजेंसी ने एक बयान में कहा कि व्यक्तियों को प्राप्त सम्मन की प्रामाणिकता को सत्यापित करने की अनुमति देने के लिए, प्रवर्तन निदेशालय ने सिस्टम के माध्यम से नोटिस जारी करने का एक तंत्र तैयार किया है।

    उसने कहा, “इसके अनुसार, ईडी के अधिकारियों को कुछ असाधारण परिस्थितियों को छोड़कर केवल सिस्टम के माध्यम से सम्मन जारी करने का निर्देश दिया गया है।”

    बयान में कहा गया है कि सिस्टम से उत्पन्न सम्मन पर उसे जारी करने वाले अधिकारी द्वारा विधिवत हस्ताक्षर और मुहर लगाई जाएगी और इसमें पत्राचार के लिए उसकी आधिकारिक ईमेल आईडी और फोन नंबर भी शामिल होगा। इसमें कहा गया कि नई प्रक्रिया की खास बात यह होगी कि “सिस्टम-से जारी सम्मन में एक क्यूआर कोड और सबसे नीचे एक विशिष्ट पासकोड होगा।”

    बयान में कहा गया कि सम्मन प्राप्त करने वाला क्यूआर कोड को स्कैन करके और ईडी वेबसाइट पेज पर विशिष्ट पासकोड दर्ज करके समन की प्रामाणिकता को सत्यापित कर सकता है, जो समन प्राप्त होने के 24 घंटे बाद (सार्वजनिक अवकाश, शनिवार और रविवार को छोड़कर) क्यूआर कोड को स्कैन करने के बाद खुल जाएगा। (एजेंसी)