Bharat Jodo Nyay Yatra
राहुल गांधी (PTI Photo)

Loading

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को आरोप लगाया कि सरकार भारतीय रेलवे के लिए नीतियां केवल अमीरों को ध्यान में रखकर बना रही है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर विश्वास धोखे की गारंटी है। राहुल ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा कि हवाई चप्पल पहनने वालों को हवाई जहाज से यात्रा के सपने दिखाकर प्रधानमंत्री उन्हें गरीबों की सवारी” रेलवे से भी दूर कर रहे हैं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि किराए में प्रति वर्ष 10 प्रतिशत बढ़ोतरी, मांग के अनुसार घटता-बढ़ता किराया, बढ़ते रद्दीकरण शुल्क और महंगे प्लेटफॉर्म टिकट के जरिए लूट की जा रही है। लोगों को ‘एलीट ट्रेन’ की तस्वीर दिखाकर लुभाया जा रहा है जिस पर गरीब पैर भी नहीं रख सकते। उन्होंने दावा किया, ‘‘सरकार ने पिछले तीन वर्ष में वरिष्ठ नागरिकों से 3,700 करोड़ रुपए वसूले हैं और ये काम उसने वरिष्ठ नागरिकों को दी गई छूट को ‘छीन कर’ किया है। 

राहुल गांधी ने कहा कि रेलवे की प्राथमिकताओं में गरीब और मध्यम वर्ग के यात्री कहीं नहीं हैं। उन्होंने कहा कि एसी डिब्बों की संख्या बढ़ाने के लिए सामान्य डिब्बों की संख्याओं को घटाया जा रहा है। इन डिब्बों में न केवल मजदूर और किसान बल्कि छात्र और नौकरी पेशा लोग भी यात्रा करते हैं। एसी डिब्बों का उत्पादन भी सामान्य डिब्बों से तीन गुना तक बढ़ा दिया गया है।

गांधी ने कहा कि असल में, अलग से रेल बजट पेश करने की प्रथा को समाप्त करना इस शोषण को छिपाने की साजिश है। उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे के लिए नीतियां केवल अमीरों को ध्यान में रखकर बनाई जा रही हैं और यह यात्रा के इस माध्यम पर निर्भर भारत की 80 प्रतिशत जनता से ‘धोखे’ जैसा है। राहुल गांधी ने दावा किया कि मोदी पर भरोसा ‘धोखे की गारंटी है। (एजेंसी)