Narendra Modi and Rahul Gandhi
File Pic

    नयी दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gnadhi) ने पेगासस जासूसी मामला और बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर निशाना साधा और दावा किया कि केंद्र में ‘हम दो, हमारे दो की सरकार’ के रहते देश के युवाओं को रोजगार नहीं मिल सकता। उन्होंने भारतीय युवा कांग्रेस के ‘संसद घेराव’ कार्यक्रम में यह आरोप भी लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी ने पेगासस जासूसी स्पाईवेयर के ‘आइडिया’ (विचार) को हर युवा के मोबाइल में डाल दिया है ताकि उनकी आवाज को दबाया जा सके।

    युवा कांग्रेस ने बेरोजगारी, कृषि कानूनों और पेगासस जासूसी के मुद्दों को लेकर ‘संसद घेराव’ का आयोजन किया। संसद की तरफ बढ़ रहे संगठन के नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने जंतर-मंतर के निकट रोक दिया। युवा कांग्रेस के इस कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे राहुल गांधी ने कहा, ‘‘इस सरकार का लक्ष्य युवाओं की आवाज दबाने का है क्योंकि वे जानते हैं कि यदि हिंदुस्तान के युवा ने अपने दिल की बात बोलनी शुरू कर दी, सच्चाई बोलनी शुरू कर दी तो नरेंद्र मोदी सरकार चली जाएगी।”

    कांग्रेस नेता ने दावा किया, ‘‘नरेंद्र मोदी जी ने सिर्फ मेरे फोन के अंदर नहीं, बल्कि हिंदुस्तान के हर युवा के फोन के अंदर पेगासस का आइडिया डाला है। यह आइडिया आवाज दबाने का है। युवा कांग्रेस का काम युवा की आवाज उठाने का है। हम युवाओं की आवाज को दबने नहीं देंगे।” उन्होंने युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का आह्वान किया, ‘‘ जो ‘हम दो हमारे दो की सरकार’ से दुखी हैं उनकी आवाज आप तेजी से उठाओ।” राहुल गांधी ने दावा किया, ‘‘युवाओं को रोजगार नहीं मिलने का एक ही कारण है कि मोदी सरकार असंगठित क्षेत्र को खत्म करती जा रही है। नोटबंटी छोटे कारोबार को खत्म करने के लिए की गई।

    आज यह देश नरेंद्र मोदी के कारण रोजगार पैदा नहीं कर पा रहा है। जब तक नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री हैं और जब तक ‘हम दो, हमारे दो की सरकार’ है तब तक युवाओं को रोजगार नहीं मिलेगा।” उन्होंने कहा, ‘‘युवा कांग्रेस और युवाओं को ये लड़ाई लड़नी है। यह लड़ाई हिंदुस्तान के भविष्य की लड़ाई है। युवाओं, आप लोग यह बात समझो कि रोजगार नहीं है, आप अपनी और घर वालों की मदद नहीं कर पाओगे क्योंकि नरेंद्र मोदी जी की साझेदारी देश के दो-तीन बड़े उद्योगपतियों के साथ है।” कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने दावा किया, ‘‘यही कारण है कि नरेंद्र मोदी जी भी आज रोजगार की बात नहीं करते हैं और आने वाले कल में भी नहीं कर सकते हैं।”