rahul-pilot

    जयपुर. अगर सूत्रों की बात सटीक मानी जाये तो आगामी 28 जुलाई को राजस्थान (Rajasthan) में गहलोत सरकार (Ashok Gahlot Goverment) का मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है।  दरअसल कांग्रेस महासचिव के सी वेणुगोपाल और राजस्थान प्रभारी अजय माकन की मौजूदगी में आज हुई प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक में विधायकों को आगामी 28 जुलाई को जयपुर में ही रहने के लिए कहा गया है।  इससे पहले आज के सी वेणुगोपाल और अजय माकन ने कांग्रेस विधायकों से मुलाकात की।  

     देखा जाए तो नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद से ही अब राजस्थान में पायलट खेमे की भी आस बढ़ गई है।  यह भी उम्मीद की जा रही है कि राजस्थान में लंबे वक्त से चली आ रही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच अब शायद खींचतान खत्म हो सकती है।  वहीं पायलट खेमे के विधायक मुकेश भाकर और रामनिवास गावरिया ने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस में देश भर में बदलाव हो रहे हैं, उससे तो अब हमें भी उम्मीद जगी है कि यहां भी वैसा ही न्याय होगा। 

    गौरतलब है है कि आज राजस्थान (Rajasthan) में अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) मंत्रिमंडल में फेरबदल और हजारों की संख्या में राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के बीच कांग्रेस विधायकों तथा पार्टी प्रदेश कार्यकारिणी पदाधिकारियों की एक बैठक रविवार को यहां हुई। बैठक में कांग्रेस का समर्थन कर रहे कुछ निर्दलीय विधायक और सचिन पायलट (Sachin Pilot) खेमे के विधायक भी शामिल हुए। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के साथ बैठक में भाग लेने के लिए पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रदेश प्रभारी अजय माकन भी आज यहाँ पहुंचे।