PTI Photo
PTI Photo

Loading

बेंगलुरु: बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे में हुए कम तीव्रता वाले विस्फोट (Bengaluru Blast Case) के दौरान मां की फोन कॉल के चलते 24 वर्षीय एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की जान बच गई। इस घटना में कर्मचारियों और कुछ ग्राहकों समेत 10 लोग घायल हुए हैं। बिहार के पटना के मूल निवासी कुमार अलंकृत ने घटना को याद करते हुए कहा कि उन्होंने काउंटर से अपना डोसा उठाया और अपनी सामान्य जगह (जहां कुछ मिनट बाद विस्फोट हुआ) पर बैठना तय किया। 

अलंकृत ने बताया कि उसी समय उनकी मां का फोन आया और वह बात करने के लिए एक शांत जगह पर चले गए, जो विस्फोट वाली जगह से महज 10 मीटर की दूरी पर थी। अलंकृत ने ‘पीटीआई’ की वीडियो सेवा से बात करते हुए बताया कि कैसे उनकी मां की कॉल की वजह से उनकी जान बच गई।  उन्होंने कहा, “मैंने अपना डोसा काउंटर से उठाया और कैफे के अंदर अपने नियमित स्थान पर बैठने ही वाला था। जब भी मैं कैफे जाता था, तो उसी स्थान पर बैठता था (जहां बाद में विस्फोट हुआ)। वह मेरी पसंदीदा जगह थी। इस बार भी मैं वहां बैठने की योजना बना रहा था, लेकिन तभी मां का फोन आया, इसलिए मैं कैफे के बाहर कुछ मीटर दूर एक शांत जगह चला गया, ताकि उनसे बात कर सकूं।” 

मां के फोन कॉल ने बचाई जान 

उन्होंने इसे एक नियमित फोन कॉल बताते हुए कहा, “वह (मेरी मां) पूछ रही थीं कि मैं कहां हूं और अचानक, मैंने तेज आवाज सुनी। मैं बाहर था। यह एक बहुत बड़ा विस्फोट था। हर कोई घबरा गया था और बाहर की ओर भाग रहा था। हर तरफ धुआं था और दुर्गंध आने लगी थी।”  उन्होंने कहा, “यह सब अचानक हुआ था। जोरदार विस्फोट होने के बाद लोग इधर-उधर भाग रहे थे। पता नहीं क्या हो रहा था। यह भयानक और चौंकाने वाला था। लेकिन शुक्र है कि मेरी मां के उस फोन कॉल ने मुझे बचा लिया।” 

कुमार कैफे में हुए विस्फोट का वीडियो ‘एक्स’ पर साझा करने वाले शुरुआती लोगों में से एक थे। अपनी पोस्ट में उन्होंने लिखा था, “दोपहर एक बजे, मैं रामेश्वरम कैफे ब्रुकफील्ड में दोपहर को खाना खा रहा था और कैफे के अंदर एक बड़ा विस्फोट हुआ। मैं धमाके से कुछ मीटर की दूरी पर था। मैं सुरक्षित हूं। कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं। भगवान उन्हें जल्द स्वस्थ करें।” 

विस्फोट में 10 लोग घायल, पूछताछ के लिए चार लोग हिरासत में 

बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे में हुए विस्फोट में कर्मचारियों और कुछ ग्राहकों समेत 10 लोग घायल हुए हैं।  बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त बी. दयानंद ने शनिवार को कहा कि शहर के रेस्तरां ‘रामेश्वरम कैफे’ में हुए विस्फोट की जांच केंद्रीय अपराध शाखा को सौंप दी गई है। इससे पहले दिन में, पुलिस सूत्रों ने कहा कि घटना के सिलसिले में पूछताछ के लिए चार लोगों को हिरासत में लिया गया है। सूत्रों ने बताया कि इन लोगों को धारवाड़, हुब्बल्लि और बेंगलुरु से हिरासत में लिया गया है। बेंगलुरु शहर आयुक्त दयानंद ने बताया कि शुक्रवार दोपहर रामेश्वरम कैफे में हुए आईईडी विस्फोट के संबंध में जांच तेजी से जारी है। दयानंद ने कहा, ‘‘कई टीम अब तक मिले विभिन्न सुरागों पर काम कर रही हैं।” 

जांच के लिए सात से आठ दलों का गठन

सूत्रों ने बताया कि जांच दल शुक्रवार को हुए विस्फोट और नवंबर 2022 में मंगलुरु कुकर विस्फोट के बीच समानताओं पर गौर कर रहा है। इस बीच, मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने विस्फोट के मद्देनजर शनिवार को गृह विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई है। सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) ने जांच शुरू कर दी है और इसके लिए सात से आठ दलों का गठन किया गया है।  पुलिस के अनुसार, रेस्तरां में एक ‘‘ग्राहक” ने हाथ धोने की जगह के पास एक बैग छोड़ा जिसमें टाइमर लगे आईईडी में विस्फोट हुआ। सूत्रों ने बताया कि बैग पकड़े संदिग्ध ने अपनी पहचान छिपाने के लिए टोपी और मास्क पहन रखा था। बेंगलुरु के रेस्तरां में कम तीव्रता का बम विस्फोट होने से कम से कम 10 लोग घायल हो गए जिनमें रेस्तरां कर्मचारी एवं ग्राहक शामिल हैं।  अधिकारियों ने बताया कि घायल लोग खतरे से बाहर हैं। (भाषा इनपुट के साथ)