sam-pitroda-rahul-narendra-modi
पित्रोदा के बयान से कांग्रेस ने झाड़ा पल्ला

कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के एक बयान पर BJP ने निशाना साधा है. दरअसल सैम पित्रोदा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह अमेरिका के विरासत टैक्स का जिक्र कर रहे हैं.

Loading

नई दिल्ली: इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा (Sam Pitroda) के बयान से अब BJP एक बार फिर कांग्रेस (Congress) के खिलाफ हमलावर हो गई है। इतना ही नहीं अब BJP कांग्रेस को दलित विरोधी भी कह रही है। साथ ही पित्रोदा पर BJP ने निशाना भी साधा है। वहीँ कांग्रेस भी सकते में है।

दरअसल, यह पूरा विवाद पित्रोदा के उस बयान से शुरू हुआ, जिसमें उन्होंने अमेरिका का उदाहरण देते हुए कहा कि, वहां जो भी मरता है, वह सिर्फ अपनी 45% संपत्ति अपने बच्चों को दे सकता है, बाकी की 55 % सरकार को दे दी जाती है, जिसको फिर गरीबों में बांट दिया जाता है। इस पर BJP ने उन्हें घेरते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस की नीतियां देश को बर्बाद करने वाली है। इस बीच कांग्रेस ने पित्रोदा के बयान से पल्ला झाड़ते हुए इसे उनका निजी बयान बताया है। खुद पित्रोदा अब कह रहे हैं कि, उनका बयान तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है।

इतना ही नहीं पित्रोदा ने कहा कि, “कांग्रेस अगर केंद्र में आती है तो, पार्टी एक नीति बनाएगी जिसके माध्यम से धन वितरण बेहतर होगा। हमारे पास (भारत में) न्यूनतम वेतन नहीं है। यदि हम देश में न्यूनतम वेतन के साथ आते हैं और कहते हैं कि आपको गरीबों को इतना पैसा देना होगा, तो यह धन का वितरण है। आज अमीर लोग अपने चपरासियों, नौकरों और घरेलू नौकरों को पर्याप्त वेतन नहीं देते हैं, लेकिन वे उस पैसे को दुबई और लंदन में छुट्टियों पर खर्च करते हैं।”

इस बाबत सैम पित्रोदा ने उदहारण देते हुए कहा कि, “अमेरिका में विरासत कर लगता है। यदि किसी के पास 100 मिलियन डॉलर की संपत्ति है और जब वह मर जाता है तो वह केवल 45% ही अपने बच्चों को हस्तांतरित कर सकता है, इसमें से 55% सरकार ले लेती है। यह एक दिलचस्प कानून है। इसमें कहा गया है कि आपने अपनी पीढ़ी में संपत्ति बनाई और अब जा रहे हैं, आपको अपनी संपत्ति जनता के लिए छोड़नी चाहिए, पूरी नहीं, आधी, जो मुझे बहुत ज्यादा उचित लगती है।’

उन्होंने कहा कि, “भारत में ऐसा नहीं है। यदि किसी की संपत्ति 10 अरब है और वह अगर मर जाता है तो उसके बच्चों को 10 अरब मिलते हैं और जनता को कुछ नहीं मिलता। तो ये ऐसे मुद्दे हैं जिन पर लोगों को बहस और चर्चा होनी चाहिए। मुझे नहीं पता कि दिन के अंत में निष्कर्ष क्या होगा लेकिन जब हम धन के पुनर्वितरण के बारे में बात करते हैं, तो हम नई नीतियों और नए कार्यक्रमों के बारे में बात कर रहे हैं जो लोगों के हित में हैं न कि अमीरों के हित में।”

इस पर BJP नेता अमित मालवीय ने भी पलटवार करते हुए कहा कि, कांग्रेस ने भारत को बर्बाद करने की ठान ली है। इस में अब, सैम पित्रोदा धन पुनर्वितरण के लिए 50% विरासत कर की वकालत करते हैं। इसका मतलब यह है कि, अगर कांग्रेस जीतती है तो हम अपनी सारी मेहनत और उद्यम से जो कुछ भी बनाएंगे, उसका 50% हमसे छीन लिया जाएगा। इस 50% के अलावा हम जो भी टैक्स देते हैं, वह अलग से भरने होंगे, हो सकता है वह भी बढ़ जाए।जानकारी दें कि, इसके पहले भी पित्रौदा ने कहा था कि, भगवान राम और हनुमान के मंदिरों से नौकरियां पैदा नहीं होंगी। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया था कि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार विकास के मुद्दों की अनदेखी कर रही है और धार्मिक मामलों पर ध्यान केंद्रित कर रही है।’